close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अब तक टीचर देते थे छात्रों को नंबर, अब छात्र देंगे शिक्षकों को नंबर

अभी तक केवल अध्यापक ही छात्रों को नंबर देते हैं, लेकिन अब नई प्रक्रिया के तहत छात्र भी अध्यापकों को नंबर देंगे. छात्रों की तरफ से अध्यापकों को दिए जाने वाले नंबर होंगे उनके पढ़ाने के ढंग, हाव-भाव आदि पर.

अब तक टीचर देते थे छात्रों को नंबर, अब छात्र देंगे शिक्षकों को नंबर

नई दिल्ली : अभी तक केवल अध्यापक ही छात्रों को नंबर देते हैं, लेकिन अब नई प्रक्रिया के तहत छात्र भी अध्यापकों को नंबर देंगे. छात्रों की तरफ से अध्यापकों को दिए जाने वाले नंबर होंगे उनके पढ़ाने के ढंग, हाव-भाव आदि पर. मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने कॉलेज शिक्षा प्रक्रिया को समझने के लिए 7वें वेतन आयोग का समर्थन दिया हैं. साथ ही 360 डिग्री फीडबैक प्रोग्राम (360 Degree Feedback Programme) को लॉन्च किया है.

सेल्फ एवलुएशन से होगी शुरुआत
इस प्रोग्राम के तहत मिले फीडबैक डाटा को इकट्ठा किया जाएगा. इसे शिक्षण संस्थानों द्वारा पेश किया जाएगा, जिसमें कुल 100 अंक होंगे. इस प्रतिक्रिया की शुरुआत सेल्फ एवलुएशन से होगी जिसके 25 अंक होंगे और 10 अंक बाकी अध्यापकों से होंगे. जिस विभाग में शिक्षक काम करता है, उसके मुखिया भी शिक्षक द्वारा की गई विभागीय गतिविधियों की रिपोर्ट करेंगे, इसके लिए 20 अंक होंगे.

10 अंक वार्षिक गोपनीय रिपोर्ट से होंगे
संस्थान के प्रिंसिपल हर शिक्षक के लिए 10 अंकों के लिए संस्थान की गतिविधियों और 10 अंकों के लिए वार्षिक गोपनीय रिपोर्ट से होंगे. बाकी के 25 अंक स्टूडेंट्स देंगे जिसमें छात्रों को 1-5 के स्केल पर 14 सावलों का जवाब देना होगा. यह प्रतिक्रिया का टेस्ट रन हो चुका है और अब देश भर के सभी प्राइवेट और सरकारी AICTE के अंदर आने वाले कॉलेजों में होगा.

(Input : Daanish Anana)