close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महाराष्‍ट्र और हरियाणा में 21 अक्‍टूबर को होंगे चुनाव, 24 अक्‍टूबर को आएंगे नतीजे- चुनाव आयोग

Maharashtra-Haryana Assembly Elections 2019 : मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त सुनील अरोड़ा ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि महाराष्‍ट्र और हरियाणा में 21 अक्‍टूबर को चुनाव होंगे. दोनों राज्‍यों के चुनावी नतीजें 24 अक्‍टूबर को जारी किए जाएंगे. दोनों राज्‍यों में एक ही चरण में चुनाव कराए जाएंगे.

महाराष्‍ट्र और हरियाणा में 21 अक्‍टूबर को होंगे चुनाव, 24 अक्‍टूबर को आएंगे नतीजे- चुनाव आयोग

नई दिल्ली: महाराष्ट्र (Maharashtra) और हरियाणा (Haryana) के विधानसभा चुनावों (Assembly Elections 2019) की घोषणा हो गई है. चुनाव आयोग (Election Commission) की प्रेस कॉन्फ्रेंस में इन चुनावी तारीखों का ऐलान किया गया. मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त सुनील अरोड़ा ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि महाराष्‍ट्र और हरियाणा में 21 अक्‍टूबर को चुनाव होंगे. दोनों राज्‍यों के चुनावी नतीजें 24 अक्‍टूबर को जारी किए जाएंगे. दोनों राज्‍यों में एक ही चरण में चुनाव कराए जाएंगे.

मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त ने कहा कि चुनाव के लिए अधिसूचना 27 सितंबर को जारी की जाएगी. उन्होंने कहा, "नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि 4 अक्टूबर है, जबकि नामांकन पत्र की जांच 5 अक्टूबर को जांच की जाएगी." सीईसी ने कहा कि नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि 7 अक्टूबर है.

मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त सुनील अरोड़ा ने बताया कि हरियाणा में 100 फीसदी वोटर्स के पास मतदाता पहचान पत्र हैं. महाराष्‍ट्र में 8.94 करोड़, जबकि हरियाणा में 1.28 करोड़ मतदाता हैं. उम्‍मीदवारों को अपने आपराधिक रिकॉर्ड की जानकारी देनी होगी. कोई भी कॉलम खाली रहा तो उम्‍मीदवार का नामांकन रद्द कर दिया जाएगा. सीईसी ने चुनाव प्रचार में प्‍लास्टिक का इस्‍तेमाल न करने की अपील भी की. CEC ने कहा कि पांच बूथों के वीवीपैट का मिलान किया जाएगा. अधिसूचना जारी होते ही लाइसेंसी हथियारों को जमा करना होगा. मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त बताया कि इन विधानसभा चुनावों में हर उम्मीदवार के चुनावी खर्च की सीमा 28 लाख रुपये तक तय की गई है. चुनावों को शांतिपूर्ण और पूरी सुरक्षा के साथ संपन्‍न कराने के लिए र्प्‍याप्‍त संख्‍या में सुरक्षाबलों की तैनाती की जाएगी.

मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त ने बताया कि इसके अलावा अरुणाचल प्रदेश, बिहार, छत्तीसगढ़, असम, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, कर्नाटक, केरल, मध्‍यप्रदेश, मेघालय, ओडिशा, पुदुचेरी, पंजाब, राजस्थान, सिक्किम, तमिलनाडु, तेलंगाना और उत्तर प्रदेश में 64 निर्वाचन क्षेत्रों के लिए उप-चुनाव 21 अक्टूबर को होंगे, जबकि मतगणना 24 अक्टूबर को की जाएगी.

बता दें कि महाराष्‍ट्र विधानसभा का कार्यकाल 9 नवंबर, जबकि हरियाणा विधानसभा का 2 नवंबर को कार्यकाल खत्‍म हो रहा है. इससे पहले आयोग की टीमें दोनों राज्यों में जाकर वहां की तैयारियों का जायजा ले चुकी हैं.

राज्य विधानसभाओं का गणित
उल्‍लेखनीय है कि महाराष्ट्र में विधानसभा की 288 सीटें हैं, जबकि हरियाणा में 90 और झारखंड में 81 सीटें हैं. इनके लिए इस साल के अंत तक चुनाव होने हैं. इन तीनों ही राज्यों में अक्टूबर 2014 में विधानसभा चुनाव हुए थे और 19 अक्‍टूबर को चुनावी नतीजों का ऐलान हुआ था. 

तीनों ही राज्यों में बीजेपी की सरकार

इन विधानसभा चुनाव में तीनों ही राज्यों में बीजेपी की सरकार बनी थी. महाराष्ट्र विधानसभा की बात करें तो यहां बीजेपी को 288 सीटों में से 122 सीटें मिली थीं. वहीं, हरियाणा की 90 सीटों में से बीजेपी के खाते में 47 सीटें गई थीं, जिसके बाद यहां मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्‍व में बीजेपी की सरकार बनी थी.