Shubh Mangal Zyada Saavdhan Review: जानिए कैसी है आयुष्मान खुराना की गे लव स्टोरी?

बॉलीवुड स्टार आयुष्मान खुराना (Ayushmann Khurrana) एक बार फिर अपनी डिफ्रेंट सब्जेक्ट वाली फिल्म लेकर सिनेमाघरों में एंट्री ले चुके हैं. 

Shubh Mangal Zyada Saavdhan Review: जानिए कैसी है आयुष्मान खुराना की गे लव स्टोरी?

नई दिल्ली: बॉलीवुड स्टार आयुष्मान खुराना (Ayushmann Khurrana) एक बार फिर अपनी डिफ्रेंट सब्जेक्ट वाली फिल्म लेकर सिनेमाघरों में एंट्री ले चुके हैं. उनकी फिल्म 'शुभ मंगल ज्यादा सावधान (Shubh Mangal Zyada Saavdhan)' आज रिलीज हो चुकी है. फिल्म अपने सब्जेक्ट के कारण रिलीज के काफी पहले से चर्चा में थी. तो टिकट बुक कराने से पहले 'शुभ मंगल ज्यादा सावधान (Shubh Mangal Zyada Saavdhan)' का रिव्यू पढ़कर जानिए कि कैसी है ये आयुष्मान की गे लव स्टोरी... 

फिल्म- शुभ मंगल ज्यादा सावधान
स्टार्स- 3.5/5
स्टार कास्ट- आयुष्मान खुराना, जितेंद्र कुमार, गजराज राव, नीना गुप्ता, शिखा तल्सानिया
निर्देशक- हितेश केवल्या
निर्माता- भूषण कुमार 

ऐसी है कहानी
इस फिल्म में आयुष्मान खुराना (Ayushmann Khurrana) की हीरोइन यानी हीरो का किरदार अभिनेता जितेंद्र कुमार (Jitendra Kumar) ने निभाया है. फिल्म कार्तिक और अमन के प्यार की कहानी पर आधारित है. ये दोनों ऐसे लड़के हैं जो एक दूसरे के प्यार में हैं, लेकिन दुनिया को इस जोड़ी का प्यार मंजूर नहीं है. यहां खासतौर पर कोई इस प्यार के विरोध में है तो वह हैं 'त्रिपाठी जी (गजराज राव)' जो कि अमन के पिता हैं. लेकिन कहानी में असली ट्विस्ट तब आता है जब अमन की शादी एक लड़की से तय हो जाती है. लेकिन अपने प्यार को पाने के लिए कार्तिक हर संभव कोशिश करता है और अमन को मना लेता है. लेकिन ये दोनों मिलकर अपने परिवार को कैसे मनाते हैं इस बीच आपको कई बार हंसी के फव्वारे सिनेमाहॉल में छूटते नजर आने वाले हैं. ये दोनों अपने परिवार को एक गे शादी के लिए मना पाते हैं या नहीं यह देखने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी.

संगीत 
इस फिल्म के सभी गानों को रिलीज के पहले ही काफी प्यार मिल चुका है. एक गंभीर विषय पर होने के बावजूद इस फिल्म का धमाकेदार म्यूजिक लोगों को फिल्म से जोड़े रखता है. एक इमोशनल एक पंजाबी और एक डिस्को गीत इस फिल्म को और मजबूत बनाते हैं. 

स्क्रीनप्ले 
फिल्म के स्क्रीन प्ले की बात की जाए तो जहां इस विषय को सुनने के साथ ही मन में एक बोझिल और उबाऊ फिल्म की बात सामने आती है. लेकिन यह फिल्म इस मान्यता को तोड़ते हुए एक पारिवारिक कॉमेडी फिल्म की तरह सामने आती है. कहा जाए तो डायरेक्टर हितेश केवल्या ने बड़ी ही खूबसूरती से फिल्म को अंजाम तक पहुंचाया है. 

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें