close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

'बधाई हो' से पाई सफलता, अब इस बायोपिक में व्यस्त हैं डायरेक्टर अमित शर्मा

अमित ने कहा कि एक फिल्मकार के तौर पर उन्हें चुनौतीपूर्ण एवं 'बिग आइडिया' पर काम करना और उन्हें पूरा करना पसंद है

'बधाई हो' से पाई सफलता, अब इस बायोपिक में व्यस्त हैं डायरेक्टर अमित शर्मा

नई दिल्ली: इस दिनों बॉलीवुड में बायोपिक्स की बयार चल पड़ी है. इस साल 'बधाई हो' फिल्म की सफलता ने एक नया उदाहरण पेश किया है. लेकिन इस फिल्म के निर्देशक अमित शर्मा भी किसी डिफरेंट सब्जेक्ट की जगह अब बायोपिक बनाने में बिजी हैं. खैर बता दें कि अमित शर्मा कोई ऐसी बायोपिक नहीं बना रहे जो रिलीज के पहले ही विवादों से जुड जाए. 

अमित शर्मा फुटबाल के जाने माने कोच सैयद अब्दुल रहीम पर आधारित फिल्म पर काम करने के लिए तैयार हैं. अमित ने कहा कि एक फिल्मकार के तौर पर उन्हें चुनौतीपूर्ण एवं 'बिग आइडिया' पर काम करना और उन्हें पूरा करना पसंद है.

बधाई हो: फिल्म की सफलता ने लगाया शतक, 100 करोड़ के पार हुई कमाई

निर्देशक अमित की फिल्म 'बधाई हो' में 50 वर्ष से अधिक उम्र की महिला के गर्भवती होने की कहानी को दर्शाया गया है और साथ ही इसमें महिला के परिवार द्वारा समाज की गलत सोच को खत्म करते हुए दिखाया गया. 

इस फिल्म को भारतीय दर्शकों ने बेहद पसंद किया. इसमें आयुष्मान खुराना, नीना गुप्ता, गजराज राव, सुरेखा सीकरी और सान्या मल्होत्रा अहम भूमिका में थे. 

अमित ने आईएएनएस को दिए एक साक्षात्कार में कहा, "मेरा मानना है कि दर्शक सिनेमा में अपनी पसंद को लेकर बेहद संवेदनशील हैं. उनके देखने का तरीका समय के साथ बदलता रहता है. आप देखेंगे कि भारतीय सिनेमा की लहर कुछ वर्षो के अंतराल में बदलती रहती है."

अजय देवगन पर चढ़ा बायोपिक्'€à¤¸ का सुरूर, 'चाणक्'€à¤¯' के बाद अब बनेंगे फुटबॉल कोच

निर्देशक ने कहा, "फिल्मों की शैली पर पसंद बदलती रहती है. जब दर्शकों के लिए एक शैली को देखते रहना भारी पड़ जाता है, तो वे अपनी पसंद बदल देते हैं. हर नई चीज का स्वागत किया जाता है."

अमित की निर्देशक के तौर पर पहली फिल्म 'तेवर' थी लेकिन यह अधिक सफलता हासिल वहीं कर सकी. इससे पहले वह विज्ञापनों पर काम करते थे. 

उन्होंने कहा, "विज्ञापनों पर काम करने का वाला कोई भी व्यक्ति छोटी-छोटी चीजों पर ध्यान देता है. एक विज्ञापन फिल्म की पुनरावृत्ति एक फीचर फिल्म से कहीं अधिक होती है और मेरा मानना है कि इसीलिए विज्ञापन अलग तरीके से दर्शकों पर छाप छोड़ते हैं."

अमित ने कहा, "मुझे बड़े विचारों पर काम करना और उन्हें पूरा करना अच्छा लगता है. मेरा मानना है कि एक फिल्मकार के रूप में इसने मुझे एक परिपक्वता दी है और मेरी आने वाली पटकथाएं इस क्रम में बेहद मजबूत होंगी."

अमित की अगली फिल्म 1951 से 1962 तक फुटबाल जगत के स्वर्णिम सफर पर आधारित होगी. इसमें अजय देवगन मुख्य भूमिका में होंगे. यह कोच सैयद अब्दुल रहीम के जीवन पर प्रकाश डालेगी. 

उन्होंने कहा, "हम अभी प्री-प्रोडक्शन चरण में हैं. यह एक पीरियड फिल्म है. हम अब भी उस समय के बारे में तथ्य हासिल कर रहे हैं. इस समय हम फिल्म के बारे में कुछ भी नहीं बता सकते लेकिन इसकी शूटिंग जल्द ही शुरू होगी."

इनपुट IANS से भी

बॉलीवुड की और भी खबरें पढ़ें