फेक सोशल मीडिया फॉलोअर्स मामले में प्रियंका चोपड़ा और दीपिका से हो सकती है पूछताछ

मुंबई क्राइम ब्रांच की फेक सोशल मीडिया फॉलोअर्स स्कैम की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ती जा रही है, इसके खुलासे बेहद चौंकाने वाले सामने आ रहे हैं. 

फेक सोशल मीडिया फॉलोअर्स मामले में प्रियंका चोपड़ा और दीपिका से हो सकती है पूछताछ
दीपिका पादुकोण प्रियंका चोपड़ा (File Photo0

मुंबई: मुंबई क्राइम ब्रांच की फेक सोशल मीडिया फॉलोअर्स स्कैम की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ती जा रही है, इसके खुलासे बेहद चौंकाने वाले सामने आ रहे हैं. जांच का सबसे बड़ा चौंकाने वाला पहलू है कि बॉलीवुड सेलिब्रिटी दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) और प्रियंका चोपड़ा जोनास के साथ 10 सेलिब्रिटीज के नाम फेक फॉलोअर्स की लिस्ट में शामिल हैं. इन फेक फॉलोअर्स को इंस्टाग्राम की भाषा मे "Bots" कहा जाता है. अब मुंबई पुलिस जल्द ही इन तमाम सेलिब्रिटीज से पूछताछ कर सकती है. आने वाले हफ्ते से ये पूछताछ शुरू होगी, जिसमें क्राइम ब्रांच के सूत्रों के मुताबिक करीब 100 से 150 लोगों का स्टेटमेंट लिया जाएगा.

स्टेटमेंट लेते वक्त पुलिस इन तमाम सेलिब्रिटीज से उन्हें फॉलो कर रहे फॉलोअर्स के नंबर को प्रूफ करने के लिए कहेगी. यानी सेलिब्रिटी को साबित करना होगा कि उसके फॉलोअर्स पूरी तरह से असली हैं ना कि उन्होंने इन्हें किसी कंपनी से खरीदा है. अभी तक इस मामले में 18 लोगों से पूछताछ की गई है जिनमें से लगभग सभी बॉलीवुड या टेलीविजन इंडस्ट्री से आते हैं. इनमें निर्माता, निर्देशक, एक्ट्रेस के अलावा मेकअप आर्टिस्ट, कोरियोग्राफर, असिस्टेंट डायरेक्टर जैसे लोग भी शामिल हैं. ये सभी बॉलीवुड के सेकंड ग्रेड सेलिब्रिटीज हैं. इसके साथ मुंबई क्राइम ब्रांच ने फ्रांस सरकार को एक लेटर लिखा है जिसमें followerscart.com से जुड़े मुख्य लोग जो फ्रांस में रह रहे हैं, उनके बारे में जानकारी मांगी  है.

आपको बता दें अभी तक क्राइम ब्रांच ने करीब 68 ऐसी कंपनियों की शिनाख्त की है जो इस तरह से फेक सोशल मीडिया फॉलोअर्स का रैकेट चला रही हैं. पुलिस ने पहले ही अभिषेक नाम के एक शख्स को गिरफ्तार कर लिया था और पुलिस सूत्रों के मुताबिक एक और शख्स से इस मामले में उन्होंने पूछताछ की है. अब पुलिस कोएना मित्रा के मामले को भी इसी फेक सोशल मीडिया फॉलोअर्स स्कैम के अंतर्गत ही छानबीन करने वाली है. इसमें पुलिस ने साहिल खान नाम के एक शख्स की भी पहचान की है.

ये भी देखें-

क्राइम ब्रांच के मुताबिक ये पूरा सिस्टम "Cost per Post" पर चलता है. यानी हर प्रभावशाली सोशल मीडिया यूजर का एक तय रेट होता है, जिसके ज्यादा फॉलोअर्स होते हैं, उसे किसी भी ब्रांड से जुड़ी सोशल मीडिया पोस्ट डालने के हिसाब से उतने ही ज्यादा पैसे मिलते हैं. इसीलिए कई बॉलीवुड और टेलीविजन से जुड़ी हस्तियां इस तरह की कंपनियों से फेक सोशल मीडिया फॉलोअर्स के लिए डील करती हैं. इसकी मुख्य वजह इंटरनेट पर 'डिजिटल फुट प्रिंट' का मौजूद होना होता है. इन डिजिटल फुटप्रिंट के जरिए किसी भी एडवरटाइजर को ये पता चलता है कि कौन से सेलिब्रिटी के सोशल मीडिया पर कौनसी पोस्ट पर कितने लाइक्स आए, कितने फॉलोअर्स हैं, किस आयु वर्ग ग्रुप के हैं. इसी हिसाब से फिर कंपनियां या बड़े ब्रांड्स इन पर पैसे खर्च करते हैं. क्राइम ब्रांच को पूरा यकीन है कि तमाम सोशल मीडिया नेटवर्किंग कंपनियों की सुरक्षा में अतिक्रमण हुआ है. और अब ये भी क्राइम ब्रांच की जांच के दायरे में आ गई हैं.

एंटरटेनमेंट की और खबरें पढ़ें 

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.