Addiction: किसी एडिक्शन के शिकार व्यक्ति की देखभाल कैसे करें, जानें टिप्स

Addiction: एडिक्शन से बाहर आना पीड़ित के स्वास्थ्य के लिए काफी जरूरी है और यह आपकी मदद और देखभाल के बिना नहीं हो सकता है.

Addiction: किसी एडिक्शन के शिकार व्यक्ति की देखभाल कैसे करें, जानें टिप्स
सांकेतिक तस्वीर

एडिक्शन काफी बुरी समस्या है, जो ना सिर्फ पीड़ित व्यक्ति बल्कि उसके परिवार के स्वास्थ्य को भी नुकसान पहुंचाती है. लेकिन दृढ़ निश्चय और लगन के साथ किसी भी लत से बाहर निकला जा सकता है. यह लत धूम्रपान से लेकर शराब व मादक पदार्थों की भी हो सकती है. एडिक्शन के शिकार व्यक्ति के आसपास वाले लोग भी तनाव व अवसाद जैसी मानसिक समस्याओं के शिकार हो सकते हैं. इसलिए, समय रहते व्यक्ति को एडिक्शन से बाहर आ जाना चाहिए. वहीं, इसके लिए उसके आसपास मौजूद लोग जैसे परिवार वाले, दोस्त या करीबी जानकारों का रोल भी अहम हो जाता है.

आइए जानते हैं कि एडिक्शन के शिकार व्यक्ति के आसपास मौजूद लोगों को पीड़ित की कैसे देखभाल करनी चाहिए.

ये भी पढ़ें: Healing Therapy: दुख चाहे कितना भी बड़ा क्यों ना हो, लेकिन इन थेरेपी के आगे नहीं टिकेगा

एडिक्शन के शिकार व्यक्ति की देखभाल कैसे करें?
अगर आपके परिवार या जानकारी में कोई व्यक्ति किसी भी एडिक्शन का शिकार है, तो आप उसकी निम्नलिखित तरीके से देखभाल कर सकते हैं. जिससे वह जल्दी इस लत से आजाद हो सके.

  1. हमेशा एडिक्शन के शिकार व्यक्ति से दया और प्रेम की भावना से बात करें. उसकी एक रोगी की तरह देखभाल मिलनी चाहिए. जिससे वह आपके प्रति नफरत के भाव से दूर रहे.
  2. एडिक्शन के कारण पीड़ित व्यक्ति में आत्महत्या करने जैसे विचार भी आ सकते हैं. इसलिए हमेशा उसकी बातों और भावों को सुनें व समझें.
  3. अगर पीड़ित आपकी बातें या सलाह नहीं सुन रहा है, तो एक बार उससे दूरी बनाकर देखें. कई बार आपको खोने के डर से भी वह सही रास्ते पर आ जाता है.
  4. एडिक्शन छोड़ने के लिए पीड़ित को हमेशा मोटीवेट करते रहें.
  5. एडिक्शन के शिकार व्यक्ति की देखभाल करते हुए अपनी व उसके आसपास मौजूद अन्य लोग जैसे बच्चे आदि की सुरक्षा का भी ध्यान रखें. कई बार पीड़ित आवेश में आकर कुछ गलत कदम उठा सकता है. जिससे आसपास मौजूद लोगों को खतरा हो सकता है.
  6. अगर आप अकेले पीड़ित की देखभाल नहीं कर पा रहे हैं, तो किसी भरोसेमंद व्यक्ति से मदद मांगने से ना हिचकिचाएं.
  7. एडिक्शन से ग्रसित व्यक्ति को आर्थिक जिम्मेदारियां ना दें. इससे आर्थिक नुकसान होने का खतरा हो सकता है.
  8. पीड़ित को थेरेपी और ट्रीटमेंट लेने के लिए समझाते रहें. यह एक प्रभावशाली मदद हो सकती है.

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है. यह सिर्फ शिक्षित करने के उद्देश्य से दी जा रही है.

ये भी पढ़ें: Self Technique: तनाव से लड़ने के लिए खुद बनाएं अपनी तकनीक, जानें कैसे?

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.