close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

POK से LeT के 18 आतंकियों ने की घुसपैठ, कंगन में आतंकी वारदात की साजिश!

सुरक्षाबलों की कोशिश है कि जंगल से यात्रा मार्ग के बीच जवानों की एक दीवार खड़ी कर दी जाए. जिससे किसी भी तरह से आतंकी यात्रा मार्ग तक पहुंचने में कामयाब न हो सकें.

POK से LeT के 18 आतंकियों ने की घुसपैठ, कंगन में आतंकी वारदात की साजिश!
गृह मंत्रालय को भेजी रिपोर्ट में बताया गया है कि POK के "KeL लॉन्च पैड" से लश्‍कर के आतंकियो को पाक ख़ुफ़िया एजेंसी ISI ने घुसपैठ कराई है. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: अमरनाथ यात्रा के दौरान आतंकी वारदात को अंजाम देने के लिए लश्‍कर-ए-तैयबा के करीब 18 आतंकियों ने पाक अधिकृत कश्‍मीर (POK) के रास्‍ते घुसपैठ की है. जम्‍मू-कश्‍मीर में सक्रिय खुफिया एजेंसियों ने सुरक्षाबलों को अलर्ट भेजकर बताया है कि घुसपैठ करने वाले आतंकी कंगन नामक जगह पर किसी बड़ी आतंकी वारदात को अंजाम देने की साजिश रच रहे हैं. खुफिया एजेंसियों से मिले इस अलर्ट के बाद सुरक्षाबलों ने जम्‍मू और कश्‍मीर के विभिन्‍न इलाकों में आतंकियों की तलाश में सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है. इसके अलावा, अमरनाथ यात्रा के लिए निर्धारित मार्ग पर सुरक्षाबलों की तैनाती बढ़ाते हुए सभी संभावित इलाकों में तलाशी अभियान चलाया गया है. सुरक्षाबलों की कोशिश है कि जंगल से यात्रा मार्ग के बीच जवानों की एक दीवार खड़ी कर दी जाए. जिससे किसी भी तरह से आतंकी यात्रा मार्ग तक पहुंचने में कामयाब न हो सकें.
यह भी पढ़ें: अमरनाथ यात्रा केंद्र के लिए है बड़ी चुनौती, पीडीपी के रुख से खड़ी हुई थी मुश्किलें

 

 

सूत्रों के अनुसार कश्मीर में होने वाली अमरनाथ यात्रा के ठीक पहले खुफिया एजेंसियों ने गृह मंत्रालय को भेजे अपने रिपोर्ट में कहा है कि कश्मीर में करीब डेढ़ दर्जन लश्कर के आतंकियों ने घुसपैठ की है. इन आतंकियों की कॉल इंटरसेप्ट करने पर पता चला है कि आतंकी अमरनाथ यात्रा के रास्ते में कंगन नाम की जगह पर आतंकी हमला करने का साजिश रच रहे हैं.  गृह मंत्रालय को भेजे रिपोर्ट में खुफिया एजेंसियों ने कहा गया है कि घुसपैठ करने वाले आतंकियों के पहले  ग्रुप में 12 आतंकी शामिल हो सकते हैं. ये आतंकी 10 जून को पीओके के रास्‍ते कश्मीर में दाखिल हुए हैं. वहीं, आतंकियों के दूसरे ग्रुप ने 20 जून को घुसपैठ की है, इस ग्रुप में लश्‍कर के 6 आतंकी हो सकते हैं.  गृह मंत्रालय को भेजी रिपोर्ट में बताया गया है कि POK के  "KeL लॉन्च पैड" से लश्‍कर के आतंकियो को पाक ख़ुफ़िया एजेंसी ISI ने घुसपैठ कराई है.

यह भी देखें: Video: अमरनाथ यात्रा पर आतंकियों की बुरी नजर, LeT दे रहा है नए आतंकी लड़ाकों को ट्रेनिंग

वहीं, अमरनाथ यात्रा पर होने वाले आतंकी खतरे को देखते हुए केंद्र सरकार ने पहली बार एनएसजी यानी नेशनल सिक्योरिटी गार्ड कमांडोज को जम्मू और कश्मीर के अलग-अलग लोकेशन पर तैनात कर दिया है. एनएसजी के स्पेशल एक्शन ग्रुप, एंटी हाइजैकिंग और एंटी टेरर टीम किसी भी तरह के ऑपरेशन के लिए इस वक्‍त कश्मीर में मौजूद है. सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक आतंकी यात्रियों को बंधक भी बना सकते हैं. इन संभावनाओं के मद्देनजर, केंद्र सरकार ने ब्लैक कैट  कमांडोज को को पहले से जम्‍मू-कश्‍मीर में तैनात कर दिया है. इतना ही नहीं, यात्रा में पड़ने वाले पूरे रास्ते में ITBP, CRPF और सेना के जवानों को अलग-अलग ठिकानों पर अलर्ट रहने के लिए कहा गया है. सुरक्षाबलों के ये जवान हवा और जमीन से पूरे यात्रा मार्ग पर अपनी निगाह बनाए हुए हैं.