जयललिता की सेहत पर ‘झूठे’ दावे पोस्ट करने वालों के खिलाफ 43 मामले दर्ज, दो गिरफ्तार

मुख्यमंत्री जयललिता की सेहत को लेकर सोशल मीडिया पर ‘झूठी और दुर्भावनापूर्ण जानकारी’ पोस्ट करने के सिलसिले में पुलिस ने 43 मामले दर्ज किए हैं और दो लोगों को गिरफ्तार किया है। जयललिता यहां एक अस्पताल में भर्ती हैं।  पुलिस ने जयललिता की सेहत को लेकर अफवाहें फैला रहे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी भी दी।

जयललिता की सेहत पर ‘झूठे’ दावे पोस्ट करने वालों के खिलाफ 43 मामले दर्ज, दो गिरफ्तार
फाइल फोटो

चेन्नई : मुख्यमंत्री जयललिता की सेहत को लेकर सोशल मीडिया पर ‘झूठी और दुर्भावनापूर्ण जानकारी’ पोस्ट करने के सिलसिले में पुलिस ने 43 मामले दर्ज किए हैं और दो लोगों को गिरफ्तार किया है। जयललिता यहां एक अस्पताल में भर्ती हैं।  पुलिस ने जयललिता की सेहत को लेकर अफवाहें फैला रहे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी भी दी।

पुलिस ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य की स्थिति के बारे में सोशल मीडिया पर दुर्भावनापूर्ण और झूठी सामग्री पोस्ट करने के सिलसिले में कुल 43 मामले दर्ज किए गए हैं। पुलिस ने कहा कि ऐसे मामलों की जांच के लिए विशेष दल गठित किए गए हैं। ये दल उन लोगों की पहचान का काम कर रहे हैं, जिन्होंने ऐसी ‘झूठी और दुर्भावनापूर्ण सामग्री’ सोशल मीडिया पर डाली है। उन्होंने कहा ऐसे ‘अपराधों के लिए सात साल से ज्यादा के सश्रम कारावास की सजा हो सकती है।’ पुलिस ने कहा कि सोशल मीडिया के प्रयोगकर्ताओं को सलाह दी जाती है कि वे तमिलनाडु की मुख्यमंत्री की सेहत की स्थिति के बारे में झूठी, दुर्भावनापूर्ण और प्रेरित जानकारी न फैलाएं। ऐसा कोई दावा संज्ञान में आता है तो दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। शिकायतों के आधार पर चेन्नई पुलिस की केंद्रीय अपराध शाखा ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें से एक व्यक्ति नामक्कल से और दूसरा मदुरै जिले से है।

पुलिस ने कहा कि नामक्कल के देवाननकुरिची निवासी सॉफ्टवेयर इंजीनियर सतीश कुमार ने फेसबुक पर ‘दुर्भावनापूर्ण सामग्री’ डालने की बात ‘स्वीकार’ की और उसे अन्नाद्रमुक की आईटी शाखा के सचिव जी रामचंद्रन की शिकायत के आधार पर गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने कहा कि चेन्नई के एक निवासी की शिकायत के आधार पर मडासामी नामक एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया। एक वेबसाइट का संचालन करने वाले मडासामी को मुख्यमंत्री की सेहत के बारे में ‘दुर्भावनापूर्ण सामग्री’ पोस्ट करने के आरोप में मदुरै से गिरफ्तार किया गया। इन दोनों को ‘दंगा भड़काने के इरादे से अफवाहें फैलाने, आम जन में घबराहट पैदा करने, सार्वजनिक व्यवस्था को बाधित करने और दो समूहों के बीच घृणा पैदा करने’ के आरोपों में भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया है।’ पुलिस ने कहा कि इन दोनों को हिरासत में भेज दिया गया है।

जयललिता को बुखार और शरीर में पानी की कमी की शिकायत पर 22 सितंबर को अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया था।