Zee Rozgar Samachar

अमित शाह का सवाल, 'मध्य प्रदेश में वंदे मातरम पर रोक का फैसला क्या राहुल गांधी का है?'

अमित शाह ने कहा, ‘मध्यप्रदेश सरकार के इस दुर्भाग्यपूर्ण निर्णय पर राहुल गांधी को देश की जनता के सामने अपना पक्ष स्पष्ट करना चाहिए' 

अमित शाह का सवाल, 'मध्य प्रदेश में वंदे मातरम पर रोक का फैसला क्या राहुल गांधी का है?'
Play

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार द्वारा राष्ट्रीय गीत ‘वंदे मातरम’ पर प्रतिबंध लगाने को दुर्भाग्यपूर्ण एवं शर्मनाक करार देते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने सवाल किया कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी बताएं कि ‘वंदे मातरम्’ के इस अपमान का निर्णय क्या उनका है?

अमित शाह ने अपने बयान में कहा, ‘मैं कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से पूछना चाहता हूं कि ‘वंदे मातरम’ का यह अपमान क्या उनका निर्णय है? मध्यप्रदेश सरकार के इस दुर्भाग्यपूर्ण निर्णय पर राहुल गांधी को देश की जनता के सामने अपना पक्ष स्पष्ट करना चाहिए' 

'कांग्रेस ने किया वीर बलिदानियों का अपमान' 
अमित शाह ने आरोप लगाया कि ‘वंदे मातरम्’ पर प्रतिबंध लगाकर कांग्रेस ने न सिर्फ देश की स्वाधीनता के लिए वंदे मातरम् का जय घोष गाकर अपना सर्वस्व अर्पण करने वाले वीर बलिदानियों का अपमान किया है बल्कि यह मध्य प्रदेश की जनता के साथ भी विश्वासघात है.

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि 'किसी भी प्रकार की राजनीतिक सोच में देश के बलिदानियों का अपमान करना मेरे जैसे एक आम भारतीय की दृष्टि में देशद्रोह के समान है।'

'भारत की स्वतंत्रता आंदोलन का प्रतीक है वंदे मातरम'
उन्होंने कहा कि ‘वंदे मातरम्’ मात्र एक गीत भर नहीं होकर यह भारत की स्वतंत्रता आंदोलन का प्रतीक एवं प्रत्येक भारतीय का प्रेरणा बिंदु है। ‘वंदे मातरम्’ में संपूर्ण भारत की रागात्मक अभिव्यक्ति समाहित है 

शाह ने कहा कि ‘वंदे मातरम्’ किसी एक वर्ग विशेष का नहीं है बल्कि भारत की स्वतंत्रता के लिए अपने प्राण आहूत करने वाले लाखों सेनानियों के त्याग का प्रतीक हैं और केवल एक वर्ग विशेष को खुश करने के लिए इसका अपमान करना बहुत ही दुख:द, शर्मनाक एवं देश की स्वतंत्रता का अपमान भी है. 

(इनपुट - भाषा)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.