लखीसरायः जीविका दीदियां अब करेंगी सेनेटरी पैड का निर्माण, कम कीमत पर बाजार में होंगे उपलब्ध
topStories0hindi1539372

लखीसरायः जीविका दीदियां अब करेंगी सेनेटरी पैड का निर्माण, कम कीमत पर बाजार में होंगे उपलब्ध

लखीसरायः बिहार के लखीसराय में महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के साथ ही उनकी बड़ी समस्या को हल करने की तैयारी कर ली गई है. लखीसराय में जीविका दीदियां अब सेनेटरी पैड का निर्माण करेंगी. बिहार का यह दूसरा जिला होगा जहां जीविका दीदियों के द्वारा सेनेटरी पैड तैयार किये जाएंगे.

लखीसरायः जीविका दीदियां अब करेंगी सेनेटरी पैड का निर्माण, कम कीमत पर बाजार में होंगे उपलब्ध

लखीसरायः बिहार के लखीसराय में महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के साथ ही उनकी बड़ी समस्या को हल करने की तैयारी कर ली गई है. लखीसराय में जीविका दीदियां अब सेनेटरी पैड का निर्माण करेंगी. बिहार का यह दूसरा जिला होगा जहां जीविका दीदियों के द्वारा सेनेटरी पैड तैयार किये जाएंगे. लखीसराय के हलसी में स्थापित होने वाले केंद्र में बने सेनेटरी पैड का युवतियां उपयोग कर सकेंगी. जीविका दीदियों के द्वारा नई क्रांति जीविका उद्योग के द्वारा सेनेटरी पैड का निर्माण किया जाएगा. सेनेटरी पैड के लिए 13 जीविका समूह की 17 दीदियों को दो दिनों का प्रशिक्षण भी दिया गया है.

सेनेटरी पैड बनाने का किया जाएगा कार्य
हलसी प्रखंड मुख्यालय के लोक सूचना विज्ञान केन्द्र भवन में सेनेटरी पैड बनाने की मशीन लगायी जा रही है. जानकारी के अनुसार बिहार में लखीसराय दूसरा जिला होगा, जहां जीविका दीदी द्वारा सेनेटरी पैड बनाए जाने का कार्य किया जाएगा. इससे पहले मुजफ्फरपुर में यह कार्य शुरू किया गया है. जीविका दीदी के द्वारा अपने कारखाने में बनाए गए सेनेटरी पैड की बिक्री के लिए मार्केटिंग भी की जाएगी. उत्पादन से बिक्री एवं प्रचार प्रसार तक की जिम्मेदारी जीविका दीदियों की होगी. बाजार में डिमांड बढ़ने के बाद जीविका दीदी की संख्या बढ़ाई जाएगी. वहीं सेनेटरी पैड निर्माण के माध्यम से जीविका दीदी को आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास भी होगा. सीएम नीतीश कुमार के ड्रीम प्रोजेक्ट के तहत जीविका दीदी को आत्मनिर्भर बनाने को लेकर सेनेटरी पैड न को लेकर कारखाना शुरू किया जा रहा है.

जीविका दीदी समूह के माध्यम से करेगी प्रचार प्रसार
हलसी प्रखंड के जीविका समूह की चयनित दीदियों को तमिलनाडु से आए प्रशिक्षण के द्वारा प्रशिक्षण दिया गया. प्रशिक्षण के द्वारा निर्माण केन्द्र पर मशीन को इंस्टॉल कर सेनेटरी पैड बनाने की जानकारी प्रैक्टिकल रूप से दी गई. ताकि निर्माण के दौरान जीविका दीदी को किसी प्रकार की समस्या न हो. जीविका दीदी के द्वारा सूचना विज्ञान केन्द्र में जीविका दीदी को रूई डालने, पेपर की कटिंग करने, ट्रेडिंग करने, अल्ट्रावायलेट ट्रीटमेंट करने सहित अन्य जानकारी देकर दक्ष किया गया. वहीं बने हुए सेनेटरी पैड के बेचने और दुकान तक उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी भी जीविका दीदीयों की ही होगी. इसके अलावा जीविका दीदी समूह के माध्यम से उत्पाद का प्रचार प्रसार भी करेगी.

सीएम के उद्देश्य किया जा रहा पूरा
उद्योग विभाग के द्वारा जिला नव परिवर्तन योजना के तहत हलसी प्रखंड मुख्यालय में जीविका दीदी के द्वारा सेनेटरी पैड बनाए जाने का कारखाना लगाया जा रहा है. उक्त योजना के तहत उद्योग विभाग के द्वारा साढ़े चार लाख रुपये की मशीन एवं कच्चा माल उपलब्ध कराया गया है. सेनेटरी पैड बनाने के लिए ग्राइंडिंग मशीन, अल्ट्रा वायलेट ट्रीटमेंट मशीन, प्रेसिंग मशीन के अलावा और सिलिंग मशीन उपलब्ध कराया गया है. सेंटर के कम्युनिटी प्रभारी रविंद्र कुमार ने बताया कि जल्द ही भवन का जीर्णोद्धार कार्य भी पूरा कर लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि जीविका के माध्यम से दीदियों को उद्योग उपलब्ध कराते हुए आत्मनिर्भर बनाना सीएम के उद्देश्य को पूरा करने का कार्य किया जा रहा है.

इनपुट- राज किशोर मधुकर 

यह भी पढ़ें- KL Rahul-Athiya Shetty Wedding: शादी में रखी गई 'नो फोन पॉलिसी', कई चीजों पर लगाई गई पाबंदी

Trending news