Muzaffarpur के SKMCH में 8 बच्चों में हुई चमकी बुखार की पुष्टि, मचा हड़कंप

Muzaffarpur Samachar: मुजफ्फरपुर के लोगों को एक बार फिर से चमकी बुखार का डर सताने लगा है. यहां पिछले साल भी गर्मी के मौसम में चमकी बुखार की वजह से सैकड़ों बच्चों की मौत हुई थी.

Muzaffarpur के SKMCH में 8 बच्चों में हुई चमकी बुखार की पुष्टि, मचा हड़कंप
मुजफ्फरपुर में एक बार फिर चमकी बुखार के मामले सामने आने लगे हैं (सांकेतिक फाइल फोटो)

Muzaffarpur: बिहार के मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) में कोरोना महामारी के साथ-साथ अब चमकी बुखार (AES) का मामला भी सामने आने लगा है. इससे अब जिले प्रशासन को दोहरी चुनौती का सामना करना पड़ रहा है.

जानकारी के अनुसार, मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच अस्पताल में गर्मी शुरू होते ही अब तक 8 बच्चों में चमकी बुखार (AES) की पुष्टि हो गई है. इसके अलावा, 04 बच्चों का इलाज PICU में इलाज चल रहा है.

अस्पताल प्रशासन ने कहा है कि इस बीमारी के एक संदिग्ध बच्चे का भी अस्पताल में इलाज चल रहा है. दअरसल, शुक्रवार को जिले के मुसहरी प्रखंड के मनिका गांव के दो वर्षीय बच्चे रौनक कुमार में चमकी बुखार की पुष्टि हुई थी.

SKMCH प्रशासन ने बताया था कि गुरुवार को बच्चे की तबीयत बिगड़ने के बाद परिजन उसे मेडिकल कॉलेज लेकर पहुंचे थे. बच्चे को PICU वार्ड में भर्ती कर उसका इलाज शुरू कर दिया गया था. जांच रिपोर्ट आने के बाद उसमें चमकी बुखार की पुष्टि हुई थी. फिलहाल बच्चे की स्थिति स्थिर बनी हुई है. उसका इलाज किया जा रहा है. 

ये भी पढ़ें- पप्पू यादव ने सीएम नीतीश पर लगाया बड़ा आरोप, बोले- CM दवा माफिया को पहुंचा रहे हैं लाभ

बता दें कि SKMCH के आंकड़ों के अनुसार, इस वर्ष अब तक AES की पुष्टि 8 बच्चों में हुई है जिसमें से एक कि मौत हो चुकी है. एक बच्चा PICU वार्ड में भर्ती है और बाकी डिस्चार्ज कर दिए गए हैं.

आंकड़ों को देखकर कहा जा सकता है कि अब जैसे-जैसे गर्मी चढ़ना शुरू हो रही है, वैसे-वैसे चमकी बुखार के आंकड़ों ने भी अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया है. ऐसे में अब जरूरत है की सभी अभिभावक अपने बच्चों की ठीक ढंग से देखभाल करें. लोग अपने बच्चों का विशेष ध्यान रखें अन्यथा परेशानी बढ़ सकती है.

(इनपुट- मनोज)