Jharkhand: प्रेमी के घर के आगे प्रेमिका ने लगाए हाय-हाय के नारे, घरवालों बंद की दरवाजा, जानें क्या है पूरा मामला
topStories0hindi1536665

Jharkhand: प्रेमी के घर के आगे प्रेमिका ने लगाए हाय-हाय के नारे, घरवालों बंद की दरवाजा, जानें क्या है पूरा मामला

Jharkhand News: झारखंड के धनबाद जिले में सुरक्षा एक लड़की अपने प्रेमी की बेवफाई से आहत होकर उसके घर के आगे धरने पर बैठी है. लड़की पिछले 55 घंटे से कड़ाके की ठंड में खुले आसमान के नीचे बैठी हुई है.

Jharkhand: प्रेमी के घर के आगे प्रेमिका ने लगाए हाय-हाय के नारे, घरवालों बंद की दरवाजा, जानें क्या है पूरा मामला

धनबाद: Jharkhand News: झारखंड के धनबाद जिले में सुरक्षा एक लड़की अपने प्रेमी की बेवफाई से आहत होकर उसके घर के आगे धरने पर बैठी है. लड़की पिछले 55 घंटे से कड़ाके की ठंड में खुले आसमान के नीचे बैठी हुई है. वहीं धरने पर बैठी लड़की को मनाने के लिए मुहल्ले के लोग तो सामने आए, लेकिन प्रेमी और उसके घर के लोगों का दिल लड़की की गुहार पर नहीं पसीज रहे. बताया जा रहा है कि लड़की के धरना पर बैठने की खबर मिलने के बाद से ही प्रेमी घर से फरार हो गया है. पूरा मामला वाकया धनबाद जिले के राजगंज थानाक्षेत्र का है.

20 दिन पहले शादी से इनकार

लड़की का कहना है कि राजगंज थानाक्षेत्र के महेशपुर गांव निवासी उत्तम महतो और उसके बीच पिछले चार साल से प्यार रिश्ता है. धनबाद में एसएसएलएनटी कॉलेज में जब वो पढ़ती थी, तभी वो उत्तम के संपर्क में आई थी. दोनों के परिवार वालों को भी इस बात की जानकारी थी. उत्तम ने लड़की से शादी का वादा किया था. दोनों कई बार एक-दूसरे के परिजनों के घर भी एक साथ गये हैं. जिसके बाद दोनों परिवारों के बीच शादी की सहमति भी बन गई थी और दोनों की तारीख भी तय हो गई लेकिन उत्तम ने तय तारीख से 20 दिन पहले शादी से इनकार कर दिया. युवती के पास जब कोई रास्ता नहीं दिखा तो अपनी दादी और अन्य रिश्तेदारों के साथ वह अपने प्रेमी के गांव महेशपुर पहुंची और युवक के घर के बाहर धरने पर बैठ गई. इसके बाद से ही उत्तम फरार बताया जा रहा है और उसके घरवालों ने घर का दरवाजा भी बंद कर लिया है.

लिखित आवेदन के बाद कोई कार्रवाई

युवती की जिद है कि कम से कम एक बार उत्तम से  उसकी बात कराई जाए, लेकिन उत्तम के घरवालों ने घर का दरवाजा अंदर से बंद कर लिया है. स्थानीय मुखिया सहित कई लोगों ने इस दौरान युवती को समझाने का बहुत प्रयास किया, लेकिन लड़की अपनी मांग पर अड़ी है. मुखिया के बहुत समझाने बुझाने के बाद उसने भोजन करना स्वीकार किया. जिसके बाद मुखिया ने दोनों परिवारों से बात करके मामले को सुलझाने की कोशिश की लेकिन बात नहीं बनी. मुखिया ने पूरे मामले की जानकारी राजगंज पुलिस को दी है, लेकिन पुलिस का कहना है कि इस मामले में जब तक कोई लिखित आवेदन न हो तो वह किस आधार पर कार्रवाई कर सकती है.

ये भी पढ़ें- Nitish Kumar in Nalanda: आज नालंदा में 7 घंटे रहेंगे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, जानें मिनट टू मिनट कार्यक्रम

Trending news