Jharkhand में जगी आशा की किरण, Hazaribagh में लगा ऑक्सीजन प्लांट

हजारीबाग के डेमोटांड़ स्थित इंडस्ट्रियल एरिया में स्थित ऑक्सीजन प्लांट में ऑक्सीजन का उत्पादन शुरू हो गया है.जिसके बाद उम्मीद जताई जा रही है कि इससे जिले में अब ऑक्सीजन की कमी पूरी हो जाएगी

Jharkhand में जगी आशा की किरण, Hazaribagh में लगा ऑक्सीजन प्लांट
हजारीबाग में स्थित ऑक्सीजन प्लांट मेंऑक्सीजन का उत्पादन शुरू (प्रतीकात्मक फोटो

Hazaribagh: कोरोना (Corona) की दूसरी लहर के बीच देशभर में रिकॉर्ड मामले दर्ज किये जा रहे हैं. कोरोना के रिकॉर्ड मामलों की वजह से देशभर में कोरोना की दवाई और ऑक्सीजन की कमी हो रही है. ऐसे में इस विपदा की घड़ी झारखंड के हजारीबाग से एक आशा की किरण आई है.

दरअसल, हजारीबाग के डेमोटांड़ स्थित इंडस्ट्रियल एरिया में स्थित ऑक्सीजन प्लांट में ऑक्सीजन का उत्पादन शुरू हो गया है.  जिसके बाद उम्मीद जताई जा रही है कि इससे जिले में अब ऑक्सीजन की कमी पूरी हो जाएगी. ​देश के सभी अस्पतालों में ऑक्सीजन की उपलब्धता को लेकर मॉनिटरिंग हो रही है. यहां तक की कई राज्यों के हाईकोर्ट ने भी इस समस्या को लेकर संज्ञान लिया है.

ये भी पढ़ें: स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह का चौथा दिन: 5,152 नए मामले, 110 लोगों की मौत

हजारीबाग के डेमोटांड़ स्थित महर्षि हेयर सॉल्यूशन में ऑक्सीजन का उत्पादन शुरू हो चुका है. यहां से प्रत्येक दिन 300 से अधिक जंबो ऑक्सीजन सिलेंडर रिफिल किए जाएंगे और विभिन्न अस्पतालों में उसको भेजा जाएगा. अगर हजारीबाग की बात करें तो यहां पर मुख्य रुप से हजारीबाग मेडिकल कॉलेज के अलावा कुछ कोविड समर्पित अस्पताल बनाए गए हैं, जहां कोरोना मरीजों का इलाज हो रहा है.

​बता दें कि, मेडिकेटेड सिलेंडर आपूर्ति के लिए 6 महीने पहले ही आवेदन दिया गया था. तब जिला प्रशासन और सरकार ने इस पर संज्ञान नहीं लिया था और प्लांट को ऑक्सीजन आपूर्ती के लिए लाइसेंस नही दिया गया था. वहीं ऑक्सीजन की किल्लत के बाद इस पर तुरंत कार्रवाई की गई.