जम्मू कश्मीर के 82 बच्चों को देश घुमाएगी BSF, ISRO भी ले जाएंगे

श्रीनगर के हुमहामा में स्थित बीएसएफ मुख्यालय में एक अलग ही दृश्य देखने को मिला. बारामुला, कुपवाड़ा, हंदवारा और बांदिपुरा जैसे सीमावर्ती जिलों से आए 82 छात्रों के चेहरों पर एक अलग ही खुशी देखने को मिली. इनमें ज्यादातर छात्र ऐसे हैं जो बीएसएफ की ओर आयोजित इस भारत दर्शन टूर के जरिये पहली बार घाटी से बाहर जा रहे हैं. उनके अनुसार उनके लिए एक अच्छा अनुभव होने वाला है.

जम्मू कश्मीर के 82 बच्चों को देश घुमाएगी BSF, ISRO भी ले जाएंगे

श्रीनगर: सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की ओर से आयोजित भारत दर्शन पर निकले उतरी कश्मीर के 82 बच्चे देश से परिचित होने के साथ बेंगलुरु में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान (ISRO) में जाकर देश के विज्ञाननिकों ने भी मिलेंगे. उतरी कश्मीर के सीमावर्ती जिलों के छात्रों को एक्स्पोजर देने के लिए बीएसएफ की ओर से भारत दर्शन टूर का आयोजन किया गया. इसके तहत छात्रों को देश की राजधानी दिल्ली और दक्षिणी भारत में बेंगलुरु समेत इसरो मुख्यालय का दौरा करेंगे और देश की जानी मानी हस्तियों से भी मिलेंगे. बीएसएफ के इस प्रोग्राम से बच्चों में काफी खुशी है.

श्रीनगर के हुमहामा में स्थित बीएसएफ मुख्यालय में एक अलग ही दृश्य देखने को मिला. बारामुला, कुपवाड़ा, हंदवारा और बांदिपुरा जैसे सीमावर्ती जिलों से आए 82 छात्रों के चेहरों पर एक अलग ही खुशी देखने को मिली. इनमें ज्यादातर छात्र ऐसे हैं जो बीएसएफ की ओर आयोजित इस भारत दर्शन टूर के जरिये पहली बार घाटी से बाहर जा रहे हैं. उनके अनुसार उनके लिए एक अच्छा अनुभव होने वाला है.

एक छात्र ने बताया, 'पहली बार ऐसा अवसर मिल रहा है और इसके चलते वह न सिर्फ अपने जिले से बाहर जा रहे हैं, बल्कि फ्लाइट पर चढ़ने का भी अनुभव पहली बार लेंगे.' ये बच्चे दिल्ली, बेंगलुरु, आगरा, आदि जगहों का दौरा करेंगे और उन्हे एक अलग ही अनुभव होगा.

एक अन्य छात्र सुखदीप सिंह का भी उत्साह कुछ कम नहीं था. सुखदीप ने कहा कि वह इसरो में जाने को लेकर सबसे ज्यादा उत्साहित है. यह टूर काफी लाभदायक होगा और वह इससे बहुत कुछ सीखेंगे.

बीएसएफ के कश्मीर रेंज के आईजी अजमल सिंह के अनुसार इस टूर को विशेष तौर से सीमावर्ती इलाकों के छात्रों के लिए आयोजित किया गया है, जिन्हें अपने देश के बारे में ज्यादा नहीं पता है. उन्होंने कहा कि इससे इन छात्रों को वह बातें जानने और देखने को मिलेगी जिनको वह केवल अभी तक किताबों में पढ़ते आये हैं. 

आईजी ने यह भी बताया कि इस दौरान इन छात्रों को एजुकेशनल अवरेनेस्स के साथ देश की विभिन्न जगहों को देख पाएंगे. उनके अनुसार वह ISRO में वैज्ञानिकों और देश की महत्पूर्ण शख़्सियतों से भी मिलेंगे और उनका अनुभव जानेंगे. आइजी ने बताया कि इस टूर का सारा खर्च बीएसफएफ कर रही है.

गौरतलब हैं कि बीएसएफ की ओर से अबतक कश्मीर के 1078 छात्रों को भारत दर्शन टूर पर भेजा जा चुका है और उन्हें एक नई दिशा दी गई है. BSF ऐसे कार्यक्रम आगे जारी रखने का इरादा रखती है.

ये भी देखें-: