नोएडा सेक्टर 16 स्टेशन पर मेट्रो ट्रेन के आगे कूदकर युवती ने किया सुसाइड

मौके पर पहुंची पुलिस ने जान गंवाने वाली युवती की पहचान शीतल श्रीवास्तव के रूप में की है. उन्होंने कहा कि शीतल नोएडा के सेक्टर 22 में रहती थी. 

नोएडा सेक्टर 16 स्टेशन पर मेट्रो ट्रेन के आगे कूदकर युवती ने किया सुसाइड
प्रतीकात्मक तस्वीर

नोएडा: दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (DMRC) की ओर से स्टेशनों पर सुरक्षा के लाख इंतजाम किए जाने के बाद भी लोग इसे सुसाइड प्वाइंट बनाने से बाज नहीं आ रहे हैं. शुक्रवार को नोएडा सेक्टर 16 स्थित मेट्रो स्टेशन पर युवती ने मेट्रो रेल के आगे छलांग लगाकर सुसाइड कर ली. यह घटना नोएडा सेक्टर 20 का मामला है. इस घटना पर मेट्रो यात्रियों का कहना है कि ब्लू लाइन के स्टेशनों पर सेफ्टी गेट नहीं हैं, इसी वजह से लोग मेट्रो ट्रैक को सुसाइड के लिए चुन रहे हैं. डीएमआरसी दिल्ली के मेट्रो स्टेशनों पर सेफ्टी गेट लगवा रही है, लेकिन अभी भी कई स्टेशनों पर यह नहीं बन पाई है. सेफ्टी गेट में स्टेशनों पर भी गेट लगे होते हैं, ट्रेन का दरवाजा खुलने के बाद स्टेशन पर लगे गेट खुलते हैं, जिससे मेट्रो ट्रैक पर कूदने की संभावना नहीं रह जाती है.

मौके पर पहुंची पुलिस ने जान गंवाने वाली युवती की पहचान शीतल श्रीवास्तव के रूप में की है. उन्होंने कहा कि शीतल नोएडा के सेक्टर 22 में रहती थी. हालांकि युवती के सुसाइड की क्या वजह रही इस बात का अब तक पता नहीं चल पाया है. मौके पर पहुंची पुलिस ने युवती के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. घटना सुबह करीब 11 बजे की है.

चश्मदीदों के मुताबिक, महिला मेट्रो प्लेटफॉर्म पर मौजूद थी और जैसे ही ट्रेन नजदीक आई वह ट्रैक पर कूद गई. सबकुछ इतनी जल्दी हुआ कि ड्राइवर ब्रेक लगाकर हादसे को रोक नहीं पाया. ट्रैक पर महिला की मौत हो गई. शव को हटवाकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है.

बताया जा रहा है कि युवती एक निजी कंपनी में नौकरी करती थी. नोएडा के सेक्टर 22 में अपने पति के साथ रहती थी. सूइसाइड की इस घटना की वजह से मेट्रो सेवा काफी देर तक प्रभावित रही. ब्लू लाइन मेट्रो स्टेशन पर देर तक रुकी रही, जिसकी वजह से पीछे से आने वाली मेट्रो को सिग्नल क्लियर न मिल पाने की वजह से यात्रियों को परेशानी हुई.