पिछले 6 महीनों में दिल्ली के खराब वातावरण ने 24000 लोगों की ली जान

ग्रीनपीस ने अपने बयान में इसकी पुष्टि की है. 

पिछले 6 महीनों में दिल्ली के खराब वातावरण ने 24000 लोगों की ली जान
फोटो साभार-इंटरनेट
Play

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना के मद्देनजर मार्च महीने से सख्त लॉकडाउन जारी है. लेकिन इसके बावजूद 2020 के शुरुआती छह महीनों में राज्य में वायु प्रदूषण (Air Pollution) के कारण करीब 24,000 लोगों की मौत हो गई है. वहीं सरकार को जीडीपी के करीब 5.8 प्रतिशत नुकसान का सामना करना पड़ा. ग्रीनपीस ने अपनी एक रिपोर्ट में इसका खुलासा किया है.

आईक्यूएयर के नए ऑनलाइन उपकरण एयर विजुअल और ग्रीनपीस दक्षिणपूर्व एशिया के मुताबिक दिल्ली में वर्ष के शुरुआती छह महीनों के दौरान वायु प्रदूषण की वजह से 26,230 करोड़ रुपयों का नुकसान हुआ, जो उसके वार्षिक सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के 5.8 प्रतिशत के बराबर है. 

बता दें कि यह दुनिया के 28 प्रमुख शहरों में जीडीपी के लिहाज से वायु प्रदूषण से होने वाला सबसे ज्यादा नुकसान है. ग्रीनपीस ने एक बयान में कहा कि 2020 के शुरुआती छह महीनों में 24,000 लोगों की मौत का संबंध वायु प्रदूषण से है. बयान के मुताबिक मुंबई में वायु प्रदूषण की वजह से इस अवधि के दौरान 14,000 लोगों की जान गई और 15,750 करोड़ का नुकसान हुआ.

ये भी पढ़ें:- कोरोना काल में लापरवाही! ट्रंप की रैली के बाद अमेरिकी शहर में कोविड-19 के मामले बढ़े