close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

70th Republic day: राजपथ पर दुनिया ने देखी भारत की ताकत, चीफ गेस्ट ने उत्सुकता से देखी परेड

70वें गणतंत्र दिवस (Republic day 2019) पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राजपथ पर झंडा फहराया.

70th Republic day: राजपथ पर दुनिया ने देखी भारत की ताकत, चीफ गेस्ट ने उत्सुकता से देखी परेड
राजपथ पर दिखेंगी विभिन्‍न झांकियां.

नई दिल्ली : 70वें गणतंत्र दिवस (Republic day 2019) पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राजपथ पर झंडा फहराया. उन्होंने लांस नायक अयूब अली (मरणोपरांत) को अशोक चक्र से सम्मानित किया. अयूब के परिजनों ने यह सम्मान हासिल किया. इसके बाद परेड जारी है. सेना की अलग-अलग टुकड़ियां अपनी ताकत का प्रदर्शन कर रही हैं. परेड की शुरुआत में T-90 टैंक की झांकी ने सबका ध्यान खींचा. मुख्य अतिथि दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा अपनी पत्नी के साथ बेहद उत्सुकता के साथ परेड का आनंद लेते दिखे. LIVE

अपडेट्स-:

- राजपथ पर गणतंत्र दिवस कार्यक्रम संपन्न. कार्यक्रम स्थल से विदा हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और चीफ गेस्ट दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा.

-आसमान में नजरें टिकाकर भारतीय एयरफोर्स की ताकत को निहारते दिखे पीएम मोदी और मुख्य अतिथि दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा.

- सेना के बाइक सवार दस्ते ने करतब दिखाए. 

- राजपथ पर स्कूली बच्चों ने मोहा मन. 

- परेड देखते हुए VVIP लोग. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी आपस में बात करते दिखे.

 - राजपथ पर परेड के बाद झाकियों का दौर जारी है.

रंग-बिरंगे ड्रेस में काफी अच्छे लगे फौजी.

- राजपथ पर महिला फौजियों ने दिखाया दम.

- राजपथ पर आकाश में ध्रुव और रूद्र हेलिकॉप्टर

- राजपथ पर आकाश मिसाइल.

- राजपथ पर शुरू हुई परेड, सभी को आकर्षित कर रहा T-90 टैंक.

- राजपथ पर परेड शुरू हो चुकी है.

- राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने लांस नायक अयूब अली (मरणोपरांत) को अशोक चक्र से सम्मानित किया. अयूब के परिजनों ने यह सम्मान हासिल किया. 

- राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने झंडा फहराया.

इस साल के गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान राजपथ पर होने वाली परेड के मुख्य आकर्षणों में 58 जनजातीय अतिथि, विभिन्न राज्यों और केंद्र सरकार के विभागों की 22 झाकियां तथा विभिन्न स्कूलों के छात्रों द्वारा दी जाने वाली प्रस्तुतियां होंगी. शनिवार को गणतंत्र दिवस पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम में दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा मुख्य अतिथि होंगे. गणतंत्र दिवस समारोह की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इंडिया गेट स्थित अमर जवान ज्योति पर शहीदों को पुष्पचक्र चढ़ाकर करेंगे.

गणतंत्र दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी देशवासियों को शुभकामनाएं दीं. उन्‍होंने ट्विटर में लिखा 'सभी देशवासियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं. जय हिन्द!'

गृह मंत्रालय ने बताया गया कि इस साल के गणतंत्र दिवस के मौके पर विभिन्न राज्यों की झांकियों के साथ सांस्कृतिक, ऐतिहासिक और विकास पर आधारित केंद्र सरकार के विभागों की झांकियां परेड का हिस्सा होंगी. सांस्कृतिक विषय पर आधारित कुछ झांकियों में लोक नृत्य भी होगा. राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजे गए 26 बच्चे भी खुली जीप में बैठकर झांकी का हिस्सा बनेंगे. गृह मंत्रालय ने बताया कि इस साल गणतंत्र दिवस परेड का समय करीब 90 मिनट होगा.

11 साल बाद CISF
महात्मा गांधी की ‘समाधि’ को सुरक्षा कवच मुहैया कराने वाले केंद्रीय अर्ध सैनिक बल सीआईएसएफ की झांकी भी इस बार 11 साल के अंतराल के बाद गणतंत्र दिवस परेड में हिस्सा ले रही है. बल की झांकी में महात्मा गांधी की समाधि पर सुरक्षा में तैनात जवानों को दिखाया जाएगा. केंद्रीय अर्धसैनिक बल के जवान देश की प्रमुख संस्थाओं और प्रतिष्ठानों की सुरक्षा में तैनात रहते हैं. करीब 1.70 लाख कर्मियों वाला यह केंद्रीय अर्धसैनिक बल अपनी स्वर्ण जंयती मना रहा है.

3 साल बाद रेलवे लेगा हिस्‍सा
भारतीय रेल तीन साल के अंतराल के बाद इस साल गणतंत्र दिवस परेड में अपनी झांकी प्रस्तुत करेगा. इस झांकी में ‘मोहनदास करमचंद गांधी के महात्मा गांधी बनने को दर्शाने के साथ साथ बुलेट ट्रेन और ट्रेन 18 को दर्शाया जाएगा. रेल मंत्रालय ने शुक्रवार को एक बयान जारी कर यह जानकारी दी.


रेलवे की झांकी. फोटो IANS

आजाद हिंद फौज के सैनिक पहली बार
पहली बार गणतंत्र दिवस की परेड में आज़ाद हिंद फौज के सैनिक शामिल होंगे. आज़ादी के 71 वर्ष बाद आज़ाद हिंद फौज को ये सम्मान दिया जा रहा है. नेता जी सुभाष चंद्र बोस और उनकी आज़ाद हिंद फौज ने ब्रिटेन के सम्राट के खिलाफ ही विद्रोह किया था. नेता जी सुभाष चंद्र बोस के वीर सैनिक परेड करेंगे.  

दिल्‍ली में कड़ी सुरक्षा
गणतंत्र दिवस परेड के मद्देनजर राजपथ से लेकर लालकिले तक के 8 किलोमीटर के परेड मार्ग पर कड़ी निगरानी के लिए सामरिक रूप से महत्वपूर्ण स्थानों पर महिला कमांडो, अचूक प्रहार करने वाली चलती-फिरती टीमें, विमानविरोधी तोपें और अचूक निशानेबाज तैनात किए गए हैं. दिल्ली पुलिस के अनुसार पराक्रम वाहन रणनीतिक स्थानों की गश्ती रहे हैं ताकि सुरक्षा में कोई समझौता न हो. इन वाहनों में एनएसजी प्रशिक्षित कमांडो होते हैं.