रोजाना स्कूल कैब ड्राइवर को धमकी देता था शख्स, तो गुस्से में कर दिया ये हाल

पुलिस ने बुधवार को बताया कि नेब सराय पुलिस थाना से तकरीबन 800 मीटर की दूरी पर स्थित एक वीरान फार्म हाउस में आरोपियों ने पहले शख्स को चाकू घोंपा और फिर गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी. 

रोजाना स्कूल कैब ड्राइवर को धमकी देता था शख्स, तो गुस्से में कर दिया ये हाल
सांकेतिक तस्वीर

नई दिल्ली: दक्षिण दिल्ली में 22 वर्षीय एक शख्स की हर दिन की धौंस और दादागिरी से गुस्साये एक स्कूल कैब ड्राइवर ने अपने साथियों के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी. घटना दक्षिण दिल्ली के नेब सराय की है.

नाले में शव फेंककर लगाया ठिकाने
पुलिस ने बुधवार को बताया कि नेब सराय पुलिस थाना से तकरीबन 800 मीटर की दूरी पर स्थित एक वीरान फार्म हाउस में आरोपियों ने पहले शख्स को चाकू घोंपा और फिर गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी. उन्होंने बताया कि आरोपियों ने शव को पास के नाले में फेंककर उसे ठिकाने लगा दिया और उसे पत्तों से ढंक दिया.

पुलिस ने की मृतक की पहचान
पुलिस ने बताया कि मृतक की पहचान नेब सराय के जवाहर पार्क में रहने वाले सुरजीत कश्यप के तौर पर हुई है. बीती रात करीब 12 बजकर 12 मिनट पर अमित कश्यप ने नेब सराय पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करायी थी कि उसका छोटा भाई सुरजीत कश्यप लापता है और वह घर नहीं लौटा है.

पुलिस उपायुक्त (दक्षिण) विजय कुमार ने कहा कि अमित ने बताया कि उसका भाई अपने दोस्तों से मिलने गया था और उसने अपने भाई के लापता होने के पीछे साजिश की आशंका जतायी. पुलिस ने कुछ लोगों की पहचान की जिन्हें आखिरी बार कश्यप के साथ देखा गया था. कुमार ने बताया कि जांच के दौरान पुलिस ने आरोपियों की पहचान सोमबीर सिंघल, विकी झा, सतबीर और विकी भट्ट के तौर पर की. सोमबीर नेब सराय और साकेत इलाके में स्कूल कैब ड्राइवर का काम करता है जबकि विकी झा मैक्स साकेत अस्पताल में सहायक का काम करता है, सतबीर बेरोजगार है और विकी भट्ट डाटा एंट्री ऑपरेटर का काम करता है.

पुलिस ने गिरफ्तार किए चारों आरोपी
डीसीपी ने बताया कि इस संबंध में मामला दर्ज कर लिया गया है और सभी चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. उन्होंने बताया, ‘‘पूछताछ में यह खुलासा हुआ कि सोमबीर और विकी की कश्यप के साथ पुरानी रंजिश थी. कुछ साल पहले कश्यप ने उन्हें पीटा था. तब से उनके मन में कश्यप के लिये दुश्मनी की भावना थी.’’ अधिकारी ने बताया कि कश्यप सोमबीर पर धौंस जमाता था और हर दिन अकसर उसे धमकी भी देता था.