दिल्ली: 3 युवकों की मौत पर पुलिस का बयान, कोई PCR नहीं कर रही थी पीछा

मृतकों के परिजनों का कहना है, 'कुछ पुलिस वाले स्कूटी सवार किशोरों का पीछा कर रहे थे. तभी हादसे का शिकार होकर तीनों की मौत हो गयी. हादसे के शिकार किशोरों में से कुछ को एक ऑटो वाले ने अस्तपताल में दाखिल कराया था.'

दिल्ली: 3 युवकों की मौत पर पुलिस का बयान, कोई PCR नहीं कर रही थी पीछा
फाइल फोटो- ANI

नई दिल्ली: मध्य दिल्ली में 3 युवकों की संदिग्ध मौत के मामले में दिल्ली पुलिस ने आज कहा है कि पुलिस की कोई भी गाड़ी इन युवकों का पीछा नहीं कर रही थी. पुलिस ने बताया कि उन्हें एक्सिडेंट की कॉल आई थी. जिसके बाद जैसे ही पुलिस मौके पर पहुंची तो वहां से इन युवकों को अस्पताल ले जाया जा चुका था. 

दिल्ली पुलिस के डीसीपी (सेंट्रल) एमएस रंधावा ने कहा, 'कल रात 11.30 बजे एक्सीडेंट की कॉल मिली थी. पुलिस टीम जब मौके पर पहुंची तब तक तीनों लड़के अस्पताल पहुंच चुके थे और उनकी मौत हो चुकी थी. क्राइम टीम फॉरेंसिक टीम से मौके का मुआयना करवाया गया. परिवार के लोग कुछ शक जाहिर कर रहे थे पर ऐसा कुछ नहीं है. हमने उन्हें फ़ेक्ट्स बताएं हैं.कोई पुलिस की गाड़ी, कोई ट्रैफिक पुलिस पर्सन उस स्कूटी का पीछा नहीं कर रहे थे. हमारे पास FSLरिपोर्ट है. बाकी सबूत भी हैं. कोई भी पुलिस का वाहन स्कूटी का पीछा नहीं कर रहा था. तीनों लड़के नाबालिग थे. सीसीटीवी फुटेज से भी जांच में मदद चल रही है.'

दिल्ली में तीन किशोरों की संदिग्ध मौत, हत्या या हादसा?
बता दें शनिवार (30 नवंबर) की रात मध्य दिल्ली के दिल्ली गेट इलाके में हुए कथित संदिग्ध सड़क हादसे में स्कूटी सवार 3 किशोरों साद, हमजा और ओसामा की दर्दनाक मौत हो गयी. तीनों आपस में रिश्तेदार बताये जाते हैं. संदिग्ध हालातों में मरने वाले तीनों किशोर तुर्कमान गेट इलाके में शादी समारोह में पहुंचे थे. वहां से वे स्कूटी पर सवार होकर रात के वक्त निकल गये. हादसे के शिकार साद के पिता घटना वाली रात मीडिया से कहा, 'यह सिर्फ सड़क हादसा नहीं है.

दरअसल कुछ पुलिस वाले स्कूटी सवार किशोरों का पीछा कर रहे थे. तभी हादसे का शिकार होकर तीनों की मौत हो गयी. हादसे के शिकार किशोरों में से कुछ को एक ऑटो वाले ने अस्तपताल में दाखिल कराया था.'

साद के पिता का आरोप था कि, "अगर मध्य जिला पुलिस ईमानदार है तो फिर वो घटनास्थाल का सीसीटीवी फुटेज क्यों छिपा रही है? सीसीटीवी में सब कुछ दिखाई दे जायेगा कि, पुलिस वाले कथित रुप से स्कूटी का पीछा कर रहे थे या नहीं? "

(इनपुट आईएएनएस से भी)