दिल्ली हिंसा: SIT ने शुरू की जांच, लोगों से मांगे सबूत, गृह मंत्रालय ने लिया हालात का जायजा

दिल्ली पुलिस का कहना है कि जानकारी देने वालों की पहचान गुप्त रखी जाएगी. 

दिल्ली हिंसा: SIT ने शुरू की जांच, लोगों से मांगे सबूत, गृह मंत्रालय ने लिया हालात का जायजा
(फोटो साभार - रॉयटर्स )

नई दिल्ली:  दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने लोगों से अपील की है कि उत्तर पूर्वी दिल्ली (North East Delhi) में 23 फरवरी से फैली हिंसा (Delhi Violence) के बारे में अगर उनके पास कोई जानकारी है तो वे पुलिस से सांझा करें. बता दें हिंसा में मरने वालों की संख्या अब तक 38 हो चुकी है . दिल्ली पुलिस ने हिंसा की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया है. 

दिल्ली पुलिस ने कहा है कि जो भी लोग घटना के गवाह हैं खासतौर से मीडियाकर्मी या अगर किसी के पास घटना की कोई जानकारी है या जिनके पास किसी घटना की फोन या मोबाइल से ली गई रिकॉर्डिंग है तो वह पुलिस से संपर्क करें. 

दिल्ली पुलिस ने कहा है कि ऐसी किसी भी जानकारी रखने वाला शख्स डीसीपी ऑफिस, उत्तर पूर्वी जिला, सीलमपुर में किसी भी कार्यदिवस पर इस नोटिस के प्रकाशन के सात दिनों के अंदर संपर्क कर सकता है. 

दिल्ली पुलिस ने मोबाइल नंबर (8750871221, 8750871227) भी जारी किए हैं जिन पर जानकारी देने के इच्छुक लोग संपर्क कर सकते हैं. दिल्ली पुलिस का कहना है कि जानकारी देने वालों की पहचान गुप्त रखी जाएगी. 

SIT का गठन
उत्तर-पूर्वी दिल्ली क्यों और कैसे जला? यह हादसा था या फिर सोची समझी रणनीति के तहत फैलाया गया दंगा? इन सवालों के जवाब तलाश कर जवाबदेही तय करने के लिए गठित दिल्ली पुलिस अपराध शाखा की एसआईटी ने जांच गुरुवार रात से ही शुरू कर दी. एसआईटी का गठन गुरुवार को दोपहर बाद ही किया गया. 

गृहमंत्रालय ने की बैठक
इस बीच, केंद्रीय गृहमंत्रालय ने हिंसाग्रस्त इलाकों की एक समीक्षा बैठक की. पिछले 36 घंटों से किसी भी प्रभावित पुलिस स्टेशन में कोई घटना दर्ज नहीं हुई है. अब तक 48 FIR दर्ज की जा चुकी है. जानमाल की क्षति को दर्ज किया गया है आगे कुछ और भी एफआईआर दर्ज की जाएंगी. पुलिस ने 514 संदिग्धों को हिरासत/ गिरफ्तार किया जा चुका है आगे और भी गिरफ्तारियां हो सकती हैं.