close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हरियाणा में अब हर परिवार के लिए बनेगा 'परिवार पहचान पत्र': सीएम खट्टर

मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि ‘परिवार पहचान पत्र’ का मुख्य उद्देश्य शून्य शेष (जीरो लेफ्ट आउट) सुनिश्चित करना है.

हरियाणा में अब हर परिवार के लिए बनेगा 'परिवार पहचान पत्र': सीएम खट्टर
फोटो साभार- @cmohry

चंडीगढ़: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने मंगलवार को कहा कि प्रदेश के प्रत्येक परिवार के लिए एक 'परिवार पहचान पत्र' तैयार किया जाएगा, जिससे न केवल लाभार्थियों को विभिन्न नागरिक केंद्रित सेवाएं मिलना सुनिश्चित होगा बल्कि इससे भ्रष्टाचार पर भी लगाम लगेगी.

मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि ‘परिवार पहचान पत्र’ का मुख्य उद्देश्य शून्य शेष (जीरो लेफ्ट आउट) सुनिश्चित करना है. उन्होंने कहा कि जिस दिन कोई व्यक्ति 60 साल की आयु पूरी कर लेता है, उसे यह संदेश जाना चाहिए कि वह वृद्धावस्था पेंशन पाने का पात्र हो गया है. इसी तरह, जैसे ही कोई युवा 18 वर्ष की आयु प्राप्त करता है तो उसे मतदान हेतु पात्र होने के बारे में सूचित किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि बजाए इसके कि लाभार्थी विभिन्न योजनाओं और सेवाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए हमारे पास पहुंचे, हमें उन तक पहले पहुंचना चाहिए.

 

 

मुख्यमंत्री ने उपायुक्तों को निर्देश दिया कि वे एसडीएम कार्यालयों, तहसीलों, ब्लॉक कार्यालयों, स्कूलों, राशन डिपो, गैस एजेंसियों आदि जैसे पब्लिक डीलिंग के सभी कार्यालयों में परिवार पहचान पत्र प्रफॉर्मा की हार्ड कॉपी रखें, ताकि विभिन्न सरकारी सेवाओं का लाभ उठाने के लिए यहां आने वाले लोग अपने परिवार का विवरण अपडेट कर सकें. उन्होंने कहा कि इस कवायद के बाद तैयार किया जाने वाला डाटाबेस सरकार की सभी कल्याणकारी नीतियों के लिए आधार बनेगा. 

सीएम मनोहर लाल खट्टर ने जिला उपायुक्तों के साथ बैठक के दौरान इसकी जानकारी दी. उन्होंने कहा कि यह कार्ड संयुक्त और एकल दोनों परिवारों के लिए बनाया जाएगा. मुख्यमंत्री ने यह बैठक वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए की. वित्त मंत्री अभिमन्यु भी इस बैठक में मौजूद थे.