दिल्ली: उपद्रवियों ने बस को घेर लिया, फिर दनादन बरसाने लगे ईंट-पत्थर, भयावह है VIDEO

जामिया हिंसा का एक वीडिया सामने आया है, जिसमें साफ तौर से दिख रहा है कि भीड़ एक कलस्टर बस को घेरे हुई है. भीड़ में मौजूद बस पर ईंट-पत्थर बरसाते हुए दिख रहे हैं. यह वीडियो रविवार (15 दिसंबर) की हैं.

दिल्ली: उपद्रवियों ने बस को घेर लिया, फिर दनादन बरसाने लगे ईंट-पत्थर, भयावह है VIDEO
जामिया हिंसा में बस को नुकसान पहुंचाने का एक वीडियो सामने आया है.

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी स्थित जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के पास स्थित न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में नागरिकता (संशोधन) अधिनियम के खिलाफ रविवार के विरोध प्रदर्शन के दौरान सड़कों पर वाहनों को आग लगाए जाने की घटना को देखकर हर कोई हैरान है. विरोध-प्रदर्शन का एक वीडिया सामने आया है, जिसमें साफ तौर से दिख रहा है कि भीड़ एक कलस्टर बस को घेरे हुई है. भीड़ में मौजूद बस पर ईंट-पत्थर बरसाते हुए दिख रहे हैं. यह वीडियो रविवार (15 दिसंबर) की हैं.

प्रदर्शनकारियों की इस करतूत को देखकर ऐसा लग रहा है कि मानो इस बस ने उनका कुछ बिगाड़ा हो. सरकार के प्रति नाराजगी जाहिर करने के लिए सरकारी बस को नुकसान पहुंचाने की इजाजत इन्हें कौन देता है? शायद ये समझ नहीं पा रहे हैं कि जिस बस में वे तोड़फोड़ कर रहे हैं, उसे उन्हीं के टैक्स के पैसों से खरीदा गया है.

ये भी देखें-:

CJI ने पूछा, कैसे जली बसें?
सुप्रीम कोर्ट में जामिया मिलिया इस्लामिया (जेएमआई) हिंसा मामले की सुनवाई के दौरान अदालत ने सवाल किया कि आखिर बसें कैसे जली? प्रधान न्यायाधीश (सीजेआई) न्यायमूर्ति एस.ए. बोबडे ने कहा, 'हमें सरकार के पक्ष में कोई दिलचस्पी नहीं है और अदालत पूरे विवाद में समाचार पत्रों और खबरों पर भी भरोसा नहीं करेगी.'

पकड़े गए हैं 10 लोग
जामिया हिंसा में संलिप्तता के आरोप में कम से कम 10 लोगों को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया है. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, 'गिरफ्तार 10 लोगों में से तीन इलाके के खराब चरित्र वाले शख्स हैं. उनकी पहचान की गई है और उन्हें हिरासत में ले लिया गया है.' पुलिस अधिकारी ने यह भी कहा कि इनमें से कोई भी जामिया का विद्यार्थी नहीं है.

उन्होंने यह भी कहा कि विरोध प्रदर्शन के दौरान हिंसा करने वालों को पकड़ने के लिए दिल्ली के दक्षिण पूर्व जिलों के विभिन्न हिस्सों में छापे मारे जा रहे हैं. नागरिकता कानून के खिलाफ विश्वविद्यालय में हो रहे प्रदर्शनों के बीच रविवार को यह एक हिंसा का रूप उस वक्त ले लिया, जब पुलिस ने विश्वविद्यालय परिसर में घुसकर बल प्रयोग किया.

रविवार को इस कानून के खिलाफ न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में विरोध प्रदर्शन करने के दौरान पुलिस के साथ हुई झड़प में प्रदर्शनकारियों ने रविवार को चार सार्वजनिक बसों और पुलिस के दो वाहनों को आग के हवाले कर दिया. इस पूरी घटना में विद्यार्थी, पुलिस और अग्निशमन कर्मी सहित करीब 60 लोग घायल हो गए हैं.