शरणार्थी अपनी पहचान कभी नहीं छिपाता जबकि घुसपैठिया कभी सामने नहीं आता: PM मोदी

पीएम मोदी ने कहा, CAA भारत के किसी नागरिक के लिए है ही नहीं,  इस कानून देश का 130 करोड़ लोगों से कोई लेना देना नहीं है.

शरणार्थी अपनी पहचान कभी नहीं छिपाता जबकि घुसपैठिया कभी सामने नहीं आता: PM मोदी
@BJP4India

नई दिल्ली: दिल्ली की एतिहासिक रामलीला मैदान (Ramlila Maidan) में पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने कहा कि कुछ राजनीतिक दल नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर अफवाहें फैला रहे हैं, लोगों की भावनाओं को भड़का रहे हैं.  पीएम मोदी ने कहा, 'आज जो ये लोग कागज-कागज, सर्टिफिकेट-सर्टिफिकेट के नाम पर मुस्लिमों को भ्रमित कर रहे हैं,  उन्हें ये याद रखना चाहिए कि हमने गरीबों की भलाई के लिए योजनाओं के लाभार्थी चुनते समय कागजों की बंदिशें नहीं लगाईं. '

पीएम मोदी ने कहा, CAA भारत के किसी नागरिक के लिए है ही नहीं,  इस कानून देश का 130 करोड़ लोगों से कोई लेना देना नहीं है. प्रधानमंत्री ने कहा, 'जो हिंदुस्तान की मिट्टी के मुसलमान  हैं, इनके पुरखे मां भारती के संतान उन पर नागरिकता कानून और एनआरसी (NRC) दोनों का कुछ लेना देना नहीं है. यह सफेद झूठ है कि लोगों को डिटेंशन कैंप में भेजा जा रहा है.' 

पीएम मोदी ने कहा, 'रिफ्यूजी का जीवन क्या होता है, बिना कसूर के अपने घरों से निकाल देने का दर्द क्या होता है, यह दिल्ली से बेहतर कौन समझ सकता है. यहां का कोई कोना ऐसा नहीं है, जहां बंटवारे के बाद किसी ऱिफ्यूजी का और बंटवारे से अल्पसंख्यक बने भारतीय का आंसू ना गिरा हो.' पीएम ने कहा, 'रिफ्यूजी अपनी पहचान कभी नहीं छिपता, जबकि घुसपैठिया कभी सामने नहीं आता.'

पीएम मोदी ने कहा, 'एनआरसी कांग्रेस के टाइम में आया, तब सो रहे थे क्या? हम न तो एनआरसी संसद में लेकर आए न कैबिनेट में' . पीएम मोदी ने कहा, 'यह एक्ट उन लोगों पर लागू होगा जो बरसों से भारत में ही रह रहे हैं। किसी नए शरणार्थी को इस कानून का फायदा नहीं मिलेगा। पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से धार्मिक प्रताड़ना की वजह से आए लोगों को सुरक्षा देने के लिए ये कानून है.' 

पीएम मोदी ने कहा, 'महात्मा गांधी ने कहा था कि पाकिस्तान में रहने वाले हिंदू और सिख साथियों को जब लगे कि उन्हें भारत आना चाहिए तब उनका स्वागत है. ये रियायत तब की भारत की सरकार के वादे के मुताबिक है.'