Breaking News

गार्गी कॉलेज में क्या हुआ था उस दिन, ZEE न्यूज़ को छात्राओं ने बताई पूरी कहानी....

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि गार्गी कॉलेज में घुसने वाले लोग बाहरी थे.

गार्गी कॉलेज में क्या हुआ था उस दिन, ZEE न्यूज़ को छात्राओं ने बताई पूरी कहानी....

नई दिल्ली: दिल्ली यूनिवर्सिटी के गार्गी कॉलेज (Gargi College) में एनुअल फेस्ट (Annual Festival) के दौरान कुछ लड़कों द्वारा की गई अभद्रता के मामले का राष्ट्रीय महिला आयोग ने संज्ञान लिया है. सोमवार को राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) की दो सदस्य टीम ने गार्गी कॉलेज का दौरा किया. साथ ही दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल के भी गार्गी कॉलेज पहुंचने की सूचना है. इसके अलावा यह भी जानकारी मिल रही है कि कॉलेज प्रशासन ने इस मामले पर छात्रों से बात करने के लिए 1 घंटे का समय मांगा है. स्टूडेंट्स अपनी मांगे प्रशासन को सौंपी है और ऐसा बताया जा रहा है कि छात्रा इसके बाद पुलिस से शिकायत करेंगे.

ऐसा भी बताया जा रहा है कि अगर एक घंटे में प्रशासन की तरफ से कोई कार्रवाई नहीं हुई तो फिर प्रिंसिपल का इस्तीफा मांगा जाएगा. वहीं केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि गार्गी कॉलेज में घुसने वाले लोग बाहरी थे.

एक छात्रा ने सोमवार (10 फरवरी) ZEE मीडिया से बात करे हुए कहा,  'शाम के करीब 4.30 बजे कॉलेज में लोग घुस आए. इनके पास, पास नहीं ‌थे. करीब 30 साल या उससे ज्यादा उम्र के लोग थे जो कॉलेज के अंदर आए थे. उनके से कुछ लोगों ने शराब पी रखी थी, कुछ लोग गांजा पी रहे थे. लड़के शर्ट उतारकर घुम रहे थे. मेरे पास खड़े होकर लड़के मेरे बारे में भद्दी बातें कर रहे थे.'

प्रत्यक्षदर्शी एक अन्य छात्रा ने बताया, 'कॉलेज में डर का माहौल बन गया था. मैंने अपने दोस्त को बुलाया, मैं गेट के पास खड़े होकर उसका इंतज़ार कर रही थी. वहां भी ये लोग आ गए कोई मेरी कमर पर हाथ लगा रहा था, कोई कंधा टच कर रहा था. स्टूडेंट्स यूनियन के लोग बाहर आ गए लेकिन वो बहुत कम थे. आमतौर पर सिक्योरिटी ठीक होती लेकिन उस दिन की भीड़ के हिसाब से कम थी. ये हालत बहुत डराने वाली है.'

दिल्ली पुलिस ने स्वत संज्ञान लेते हुए जांच शुरू की
गार्गी कॉलेज में हुई छेड़छाड़ के मामले का दिल्ला पुलिस स्वत संज्ञान लेते हुए अपनी तरफ से जांच शुरू कर दी है. एडिशनल डीसीपी के नेतृत्व में एक टीम इस मामले की जांच कर कर रही है. पुलिस सीसीटीवी चेक करेगी, कालेज के सभी एंट्री और एग्जिट प्वाइंट चेक करेगी, सभी गार्ड्स से पूछताछ करेगी. फेस्ट में मौजूद कॉलेज के गार्ड्स से पूछताछ कर जानकारी लेगी. सुरक्षाकर्मियों बाउंसर से भी पूछताछ कर जानकारी लेगी

कॉलेज में पुलिस प्रिंसिपल के माध्यम से अपील करेगी कि कोई छात्रा अगर शिकायत देना चाहे तो कालेज के अंदर ही पुलिस उसकी शिकायत लेगी और कार्रवाई शुरू करेगी.

बता दें कि 6 तारीख को कुछ लोग शराब पीकर कॉलेज में घुस आए और लड़कियों के साथ छेड़छाड़ की गई. भीड़ इतनी ज्यादा थी कि कुछ लोग दीवार फांद कर कॉलेज में दाखिल हुए. एक लड़की ने नाम छुपाने के शर्त पर ज़ी न्यूज को बताया, 6 फरवरी को कुछ लोग शराब पीकर आये और लड़कियों से छेड़छाड़ की. लड़कियों ने जब इसकी जानकारी प्रिंसिपल को दी तो उन्होंने कहा कि 'अगर इतना डर लगता है तो तुम घर क्यों नहीं चली जाती हो?'

छात्रा का यह भी आरोप है कि सारी गलती कॉलेज प्रशासन की है. ज्यादा भीड़ ना हो इसके लिए कॉलेज स्टूडेंट यूनियन ने बाकायदा पास जारी किए थे, लेकिन प्रशासन ने सबको अंदर जाने की अनुमति दे दी थी, जिसके बाद ये हालात बन गए.

Zee News ने गार्गी कॉलेज की प्रिंसिपल प्रोमिला ने कहा, वह और उनका स्टाफ फेस्टिवल खत्म होने के बाद सबसे आखिर में गए थे. किसी भी लड़की ने उनके साथ छेड़छाड़ होने की शिकायत नहीं कि थी. लड़कियों की सुरक्षा के कॉलेज के गार्ड, कमांडो और बाउंसर तक रखे हुए थे. स्थानीय पुलिस के भी पुलिस वाले सदी वर्दी के अलावा यूनिफॉर्म में भी थे. अगर फिर भी किसी लड़की के साथ किसी ने छेड़छाड़ की होगी तो सोमवार को बात करने के बाद ही तस्वीर साफ हो पाएगी.

वहीं, जब Zee News ने पुलिस से घटना की जानकारी लेने के लिए साउथ डिस्ट्रिक्ट के डीसीपी अतुल ठाकुर से बात की तो उनका कहना था कि पुलिस ने पास अभी तक किसी ने कोई शिकायत नहीं कि है और ना ही घटना के वक़्त कोई पीसीआर कॉल नहीं की गई थी.