डेमोक्रेट्स मेरे खिलाफ महाभियोग लाना चाहते हैं क्योंकि वे 2020 में नहीं जीत सकते: ट्रंप

ट्रंप ने  कहा, 'वे (डेमोक्रेट्स) केवल मेरे खिलाफ महाभियोग लाना चाहते हैं क्योंकि वे जानते हैं कि वे 2020 में जीत नहीं सकते, इतनी सफलता.'

डेमोक्रेट्स मेरे खिलाफ महाभियोग लाना चाहते हैं क्योंकि वे 2020 में नहीं जीत सकते: ट्रंप
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (फोटो साभार - रॉयटर्स)

वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को कहा कि विपक्षी डेमोक्रेट्स उनके खिलाफ महाभियोग लाना चाहते हैं क्योंकि वे जानते हैं कि वे 2020 के राष्ट्रपति चुनाव नहीं जीत सकते.  गुरुवार को डेमोक्रेट्स अमेरिका के 435 सदस्यीय हाउस ऑफ रीप्रजेंटेटिव्स में बहुमत में आ गए और इसी के साथ रिपब्लिकन पार्टी का कांग्रेस और व्हाइट हाउस में पिछले दो वर्षों का एकाधिकार समाप्त हो गया. 

ट्रंप ने अनेक ट्वीट कर कहा, 'वे (डेमोक्रेट्स) केवल मेरे खिलाफ महाभियोग लाना चाहते हैं क्योंकि वे जानते हैं कि वे 2020 में जीत नहीं सकते, इतनी सफलता.' ट्रंप ने अपने खिलाफ महाभियोग की विचार पर प्रश्न किया और दावा कि वह बेहद सफल राष्ट्रपति रहे हैं.

बता दें अमेरिका में विपक्षी दल डेमोक्रेटिक पार्टी की नेता नैन्सी पेलोसी अंतत: तीन जनवरी को हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स की अध्यक्ष चुन ली गईं. पेलोसी के समक्ष इस पद के लिए रिपब्लिकन पार्टी के केविन मैककार्थी खड़े थे. सदन में पेलोसी को 220 वोट मिले जबकि मैककार्थी को 192 मत मिले.

गौरतलब है कि अमेरिका में नवंबर 2018 में हुए मध्यावधि चुनावों से पहले लोगों को संदेह था कि क्या 78 वर्षीय पेलोसी सदन में अपनी पार्टी को बहुमत दिला सकेंगी और वह अध्यक्ष बन सकेंगी. लेकिन चुनाव में मिली जीत और तीन जनवरी को उनके चयन ने सभी सवालों का जवाब दे दिया.

पेलोसी ने हालांकि अपने चुनाव प्रचार के दौरान यह स्पष्ट किया था कि वह सिर्फ चार साल के लिए नेतृत्व संभालेंगी. उसके बाद नेतृत्व अगली पीढ़ी के हाथों में चला जाएगा.
पेलोसी सदन के स्पीकर/अध्यक्ष के पद पर चुनी जाने वाली एकमात्र महिला हैं.

सदन में पार्टी की कमान संभालने वाली पेलोसी पर अपनी पार्टी के सदस्यों की ओर से राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग चलाने का दबाव है. लेकिन वह इसे विभाजनकारी गतिविधि बताती हैं. उनका कहना है, 'हमें किसी के खिलाफ महाभियोग राजनीतिक कारणों से नहीं चलाना चाहिए और न ही राजनीतिक कारणों से किसी के खिलाफ महाभियोग चलाए जाने को रोकना चाहिए.' 

पेलोसी का कहना है कि वह 2016 के चुनावों में रूसी हस्तक्षेप के संबंध में विशेष अधिवक्ता रॉबर्ट मूलर की रिपोर्ट का इंतजार कर रही हैं. उनका कहना है कि सिर्फ सदन ही महाभियोग पर निर्णय ले सकता है.

(इनपुट - भाषा)