PAK-चीन से भारतीय साइबर स्पेस पर हो रहा 'अटैक', एक साल में 110 वेबसाइट हैक

पिछले एक साल में 110 वेबसाइट हैक हुई हैं. इनमें 48 वेबसाइट केंद्र और राज्य सरकार की भी हैं.

PAK-चीन से भारतीय साइबर स्पेस पर हो रहा 'अटैक', एक साल में 110 वेबसाइट हैक
दुनिया के अलग-अलग लोकेशन पर बैठकर हैकर्स भारतीय कंप्यूटर और इंटरनेट को निशाना बना रहे हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

नई दिल्ली: भारत की साइबर सुरक्षा पर हैकर्स सेंध लगा रहे हैं. भारत में 2018 से अक्टूबर 2019 तक 110 वेबसाइट हैक की गई हैं. इसी दौरान केंद्र सरकार और राज्य सरकार की 48 वेबसाइट भी हैक हुईं. दुनिया के अलग-अलग लोकेशन पर बैठकर हैकर्स भारतीय कंप्यूटर और इंटरनेट को निशाना बना रहे हैं. पाकिस्तान, चीन, नीदरलैंड, फ़्रांस, ताइवान, रूस, ट्यूनिशिया, अल्जीरिया, सर्बिया जैसे देशों से भारत की साइबर सुरक्षा को हैकर चुनौती दे रहे हैं.

राज्यसभा में लिखित जवाब में केन्द्र सरकार ने माना कि साइबर सुरक्षा तंत्र को बढ़ाने पर ज़ोर देना होगा. इंडियन कम्प्यूटर इमर्जेंसी रेस्पांस टीम का हवाला देते हुए सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने कहा कि जो वेबसाईट हैक की गईं, उनके IP Address से पता चलता है कि हैकर्स पाक, चीन जैसे देशों से हैकिंग को अंजाम देते हैं.

केन्द्र सरकार ने राज्यसभा में बताया कि भारत सरकार की साईबर सुरक्षा एजेंसी CERT-In अन्य देशों के साथ लगातार संपर्क में रहती है ताकि ऐसी हैकिंग को रोका जा सके.

आपको बता दें भारत इंटरनेट का कारोबार तेज़ी से बढ़ता जा रहा है. डिजिटल क्रांति के इस दौर में देश के सामने सबसे बड़ी चुनौती अपनी वेबसाइट को सुरक्षित रखना और साइबर क्राइम से निपटना महत्वपूर्ण है. इतनी बड़ी संख्या वेबसाइट का हैक होना, यह दिखाता है कि हमारी साइबर सुरक्षा कमजोर है. इसलिए हमें अपनी साइबर स्पेस की सुरक्षा को और ज़्यादा मज़बूत करना होगा. ताकि हैकर्स अपने मिशन में कामयाब न हो सकें