सीमा पर तनातनी के बीच इस दूसरे मोर्चे पर भारत ने चीन को दी करारी शिकस्‍त

संयुक्त राष्ट्र के कमीशन ऑन द स्टेटस ऑफ वुमेन ( United Nations’ Commission on Status of Women) के एक महत्वपूर्ण चुनाव में भारत ने चीन को हराकर आयोग की सदस्यता हासिल की है. यह वैश्विक निकाय लिंग समानता और महिला सशक्तीकरण के क्षेत्र में काम करता है

सीमा पर तनातनी के बीच इस दूसरे मोर्चे पर भारत ने चीन को दी करारी शिकस्‍त

संयुक्त राष्ट्र: संयुक्त राष्ट्र के कमीशन ऑन द स्टेटस ऑफ वुमेन ( United Nations’ Commission on Status of Women) के एक महत्वपूर्ण चुनाव में भारत ने चीन को हराकर आयोग की सदस्यता हासिल की है. यह वैश्विक निकाय लिंग समानता और महिला सशक्तीकरण के क्षेत्र में काम करता है. सीएसडब्ल्यू संयुक्त राष्ट्र आर्थिक एवं सामाजिक परिषद (ईसीओएसओसी) का एक कार्यात्मक आयोग है.

54 सदस्यीय ईसीओएसओसी ने सोमवार को जनरल असेंबली हॉल में अपने 2021 सत्र की पहली बैठक आयोजित की, जिसमें एशियाई देशों की दो सीटों के लिए अफगानिस्तान, भारत और चीन एक साथ चुनाव मैदान में थे. संयुक्त राष्ट्र में राजदूत अडेला राज के नेतृत्व में अफगानिस्तान को 39 मत मिले और भारत को 54 मतपत्रों में से 38 मत मिले. 

 

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य, चीन को केवल 27 मत मिले और 28 वोटों के लिए आवश्यक बहुमत पाने में असफल रहा. संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टी एस तिरुमूर्ति ने ट्वीट किया,“भारत ने प्रतिष्ठित ईसीओएसओसी निकाय में सीट जीती! भारत को महिला कमीशन ऑन स्टेटस फॉर वुमेन का सदस्य चुना गया. 

यह लैंगिक समानता और महिला सशक्तीकरण को बढ़ावा देने के लिए हमारी प्रतिबद्धता का परिणाम है. हम सदस्य देशों को उनके समर्थन के लिए धन्यवाद देते हैं.”

VIDEO