close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भारत ने पाकिस्तान से कहा, 'हमारे पायलट को सुरक्षित रिहा करें'

भारत ने कहा है कि वह पाकिस्तान द्वारा भारतीय वायुसेना के घायल कर्मी को अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन कर अशोभनीय तरीके से दिखाए जाने की निन्दा करता है.  

भारत ने पाकिस्तान से कहा, 'हमारे पायलट को सुरक्षित रिहा करें'
(प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली: भारत ने पाकिस्तान के हिरासत में लिए गए एक भारतीय पायटल को सुरक्षित रिहा करने कहा है. भारत ने कहा है कि पायलट को कोई भी नुकसान न पहुंचाया जाए. भारत ने कहा है कि वह पाकिस्तान द्वारा भारतीय वायुसेना के घायल कर्मी को अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन कर अशोभनीय तरीके से दिखाए जाने की निन्दा करता है.  

मंत्रालय ने कहा कि उसने अंतरराष्ट्रीय मानवता कानून और जिनेवा संधि के विपरीत किसी घायल कर्मी को 'अशोभनीय रूप से दिखाए जाने पर' पड़ोसी देश के समक्ष कड़ी आपत्ति दर्ज कराई है. विदेश मंत्रालय ने कहा,'पाकिस्तान को यह स्पष्ट कर दिया गया है कि वह सुनिश्चित करे कि उसकी हिरासत में भारतीय रक्षाकर्मी को कोई नुकसान न पहुंचे. भारत उसकी (अपने पायलट) तत्काल और सुरक्षित वापसी की भी उम्मीद करता है.'

वहीं मंत्रालय ने पाकिस्तान के कार्यवाहक उच्चायुक्त को आज दोपहर बाद तलब किया और पाकिस्तान द्वारा भारत के खिलाफ की गई अकारण आक्रामकता तथा भारतीय नभक्षेत्र का उल्लंघन करने और सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने के प्रयासों पर कड़ी आपत्ति जताई।

पाकिस्तान की सेना ने बुधवार को अपने बयान से पलटते हुए कहा कि उसने 'मात्र एक' भारतीय पायलट को गिरफ्तार किया है. इससे पहले उसने कहा था कि भारतीय वायुसेना के दो पायलट उसकी हिरासत में है.

पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने कहा, 'पाकिस्तानी सेना की हिरासत में मात्र एक है. विंग कमांडर के साथ सैन्य आचारनीति के मानकों तहत बर्ताव किया जा रहा है.' 

बता दें इससे पहले गफूर ने दावा किया था कि भारतीय वायुसेना के दो पायलटों को गिरफ्तार किया गया है. एक पायलट घायल है और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है जबकि एक अन्य पायलट को कोई चोट नहीं आई है.

(इनपुट - भाषा)