#IndiaKaArth: 'अर्थ महोत्‍सव' में ओवैसी Vs सुब्रमण्यम स्वामी, जानिए किसने क्या कहा

सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि हमारी स्वतंत्रता संविधान के बाहर जा चुकी है. बच्चों को धरने पर लेकर बैठना संविधान के खिलाफ नहीं है क्या?

#IndiaKaArth: 'अर्थ महोत्‍सव' में ओवैसी Vs सुब्रमण्यम स्वामी, जानिए किसने क्या कहा
ओवैसी और बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कई मुद्दों पर जमकर एक-दूसरे पर निशाना साधा

नई दिल्ली: जवाहरलाल नेहरू स्‍टेडियम में चल रहे 'अर्थ' (Arth: A Culture Fest) के आखिरी दिन AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) और बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी (Subramanian Swamy) ने कई मुद्दों पर जमकर एक-दूसरे पर निशाना साधा. सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि हमारी स्वतंत्रता संविधान के बाहर जा चुकी है. बच्चों को धरने पर लेकर बैठना संविधान के खिलाफ नहीं है क्या?

स्वामी ने कहा, 'इस्लाम ये नहीं मानता कि सभी धर्म भगवान की तरफ ले जाते हैं. सऊदी में हम दिवाली नहीं मना सकते.' उन्होंने कहा, 'अनुच्छेद 370 अस्थाई था, इसे हमने हटाया. अनुच्छेद 370 हटाने के लिए कोई फतवा नहीं लाए बल्कि संसद में पास किया.'

उन्होंने कहा, 'जब 5 लाख कश्मीरी पंडितों को भगाया तो कश्मीरी लोग क्या कर रहे थे?' इसके अलावा स्वामी ने CAA पर भी बयान दिया. उन्होंने कहा, 'CAA पर समानता की बात नहीं की जा सकती. आज एससी के लिए आरक्षण है लेकिन ब्राह्मणों के लिए कोई आरक्षण नहीं है, तो क्या मैं ये कहा करूं कि ये समानता नहीं है?'

वहीं AIMIM प्रमुख ओवैसी ने कहा, 'हमारा संविधान खतरे में है, प्रधानमंत्री को जीनियस कहा जा रहा है. विधायिका और न्यायपालिका की स्वतंत्रता खत्म कर दी गई है.' उन्होंने कहा कि फतवा किसी एक किताब से नहीं लिया गया है, अलग अलग सोर्सेज से लिया गया है. संविधान सभा में 16 नवंबर को 370 के मुद्दे पर भीमराव अम्बेडकर ने कहा था कि मैं गद्दार नहीं जो इसे पास करूं.

ओवैसी ने कहा, '370 हटाने से पहले जम्मू कश्मीर विधानसभा से सलाह नहीं ली गई थी. अगर मैं प्रधानमंत्री होता तो महबूबा मुफ़्ती से गठबंधन नहीं करता. आप वहां लोगों को गिरफ्तार कर रहे हैं, आगरा की जेल में डाल रहे हैं. हालात वहां और बिगड़ेंगे.' 

ये भी देखें- 

कश्मीरी पंडितों के मुद्दे पर ओवैसी ने कहा, 'बीजेपी ने कितने कश्मीरी पंडितों की वापसी कराई? कश्मीरी पंडितों की वापसी होनी चाहिए.' ओवैसी ने कहा, 'गाय की रक्षा के लिए मौजूदा सरकार ने क्या किया और पूर्वोत्तर में बीजेपी गोहत्या को क्यों नहीं रोक पाई.' ओवैसी ने ये भी कहा कि MIM और AIMIM का कोई संबंध नहीं है.

CAA पर ओवैसी ने कहा, 'CAA के लिए 70 साल में कोई कानून धर्म के आधार पर नहीं बना लेकिन ये पहला है. अगर कोई हिंदू भारत आकर रिफ्यूजी बनता है तो मुझे कोई दिक्कत नहीं है लेकिन आप धर्म के ऊपर कानून नहीं बना सकते.'

बता दें कि 'अर्थ' (Arth: A Culture Fest) तीन दिनों तक चला. तीन दिवसीय यह महोत्सव भारत के विद्वानों, दार्शनिकों, लेखकों, कलाकारों और शिल्‍पकारों की भागीदारी का गवाह बन रहा है.