J&K: आतंकियों ने फिर गैर-कश्‍मीरियों को बनाया निशाना, 2 मजदूरों की मौत; इमरजेंसी अलर्ट जारी
X

J&K: आतंकियों ने फिर गैर-कश्‍मीरियों को बनाया निशाना, 2 मजदूरों की मौत; इमरजेंसी अलर्ट जारी

जम्मू कश्मीर में सेना (Indian Army) के ऑपरेशन ऑलआउट (Operation All Out) से बौखलाए आतंकी लगातार आम लोगों को अपनी गोली का निशाना बना रहे हैं. 24 घंटे में तीसरी बार गैर कश्मीरियों पर आतंकी हमला किया गया है.

 

J&K: आतंकियों ने फिर गैर-कश्‍मीरियों को बनाया निशाना, 2 मजदूरों की मौत; इमरजेंसी अलर्ट जारी

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर आतंकियों ने कायराना हरकत को अंजाम दिया है. कुलगाम में हुई आतंकियों की फायरिंग में दो गैर कश्मीरी मजदूरों की मौत हो गई है. एक की हालत गंभीर है. मरने वालों की पहचान बिहार के रहने वाले राजा ऋषिदेव और जोगिंदर ऋषिदेव के तौर पर हुई है वहीं चुनचुन ऋषि देव नामक मजदूर घायल है. 24 घंटे में ये तीसरा ऐसा आतंकी हमला है जिसमें गैर कश्मीरियों को निशाना बनाया गया है. आतंकियों की तलाश में सुरक्षाबलों ने इलाके को घेर लिया है.

इमरजेंसी अलर्ट जारी 

लगातार हो रही आतंकी घटनाओं खासकर गैर कश्मीरियों को निशाना बनाए जाने के बाद कश्मीर घाटी में इमरजेंसी अलर्ट जारी किया गया है. जम्मू कश्मीर पुलिस ने एडवाइजरी जारी करते हुए कहा, ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए सभी गैर स्थानीय लोगों को पुलिस स्टेशनों, आर्मी कैंप्स और अन्य सिक्योरिटी शिविरों में सुरक्षा प्रदान की जाएगी.

बिहार सरकार ने किया  मदद का ऐलान

बिहार सरकार ने आतंकी हमले में मारे गए मजदूरों के परिवार को आर्थिक मदद दिए जाने का ऐलान किया है. जम्मू कश्मीर में मारे गए मजदूरों के परिजनों को बिहार सरकार 2-2 लाख रुपये की आर्थिक मदद देगी. इस बीच सीएम नीतीश कुमार ने जम्मू कश्मीर के एलजी मनोज सिन्हा से बात की है. उधर बीजेपी के राज्य सभा सांसद और बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने भी घटना पर दुख जताया. उन्होंने ट्वीट किया, 'सरकार इस हमले का बदला जरूर लेगी.'

गैर कश्मीरियों को बना रहे निशाना

दरअसल आतंकी सेना की कार्रवाई से इतने बौखला गए हैं कि आम नागरिकों को, गैर कश्मीरियों को और खास तौर पर हिंदुओं को अपना निशाना बना रहे हैं. बीते दिनों ईदगाह के पास गोलगप्पे वाले अरविंद की हत्या कर दी गई. उसके सिर पर गोली मारकर आतंकी फरार हो गए. वहीं पुलवामा में आतंकियों ने एक कारपेंटर को गोली मारी. अब एक बार फिर आतंकियों ने घर में घुसकर गैर कश्मीरी मजदूरों पर फायरिंग कर दी. साल 2021 में आतंकी 30 नागरिकों की हत्या कर चुके हैं.

टारगेट किलिंग की नई रणनीति?

बताते चलें कि पाकिस्तान (Pakistan) के इशारे पर आतंकी जम्मू कश्मीर में सिविलियन की टारगेट किलिंग की नई रणनीति पर चल रहे हैं. अक्टूबर में अब तक आतंकी 4 हिंदू-सिख समेत 7 सिविलियन की हत्या कर चुके हैं. शनिवार को श्रीनगर में गोलगप्पा विक्रेता की हुई हत्या इस प्रकार की 8वीं घटना रही.

यह भी पढ़ें: रद्द होगा भारत-PAK मैच? जम्मू-कश्मीर में आतंकी घटनाओं के बीच केंद्रीय मंत्री का बड़ा बयान

आम लोग निशाने पर क्यों?

सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान (Pakistan) की खुफिया एजेंसी ISI ने जम्मू कश्मीर में नए सिरे से आतंकवाद खड़ा करने के लिए 200 आम लोगों की हिट लिस्ट तैयार की है. इस लिस्ट में दुकानदार, नेता, वर्कर, निजी कर्मचारी, हिंदू-सिख समेत तमाम लोग शामिल हैं. चूंकि आम लोगों के पास सुरक्षा के इंतजाम नहीं होते, इसलिए उन्हें टारगेट करके पाकिस्तान फिर से कश्मीर में नया खौफ भरना चाहता है. 

LIVE TV

Trending news