सरकार का बड़ा एक्शन: जम्मू-कश्मीर के 18 अलगाववादियों समेत 155 नेताओं की सुरक्षा वापस ली

जम्मू : पुलवामा हमले के बाद मोदी सरकार ने एक और बड़ी कार्रवाई करते हुए 18 अलगाववादियों समेत 155 नेताओं की सुरक्षा वापस ले ली है. 

सरकार का बड़ा एक्शन: जम्मू-कश्मीर के 18 अलगाववादियों समेत 155 नेताओं की सुरक्षा वापस ली

जम्मू : पुलवामा हमले के बाद मोदी सरकार ने एक और बड़ी कार्रवाई करते हुए 18 अलगाववादियों समेत 155 नेताओं की सुरक्षा वापस ले ली है. हुरियत कॉन्फ्रेंस के कई नेताओं की सुरक्षा हटाई गई या कम की गई है. जिन नेताओं की सुरक्षा हटाई गई या कम की गई है उनमें एसएएस गिलानी, आगा सैयद, मौलवी अब्बास अंसारी, यासीन मलिक, सलीम गिलानी, शाहिद उल इस्लाम, जफ्फार अकबर भट, नईम अहमद खान, मुख्तार अहमद वाज़ा शामिल हैं. 

 

इसके अलावा, फारुख अहमद किचलू, मसरूर अब्बास अंसारी, अब्दुल गनी शाह और मोहम्मद मुसादिक भट्ट की सुरक्षा कम की गई है या कम की गई है. इन नेताओं की सुरक्षा में करीब 1000 पुलिसकर्मी और 100 गाड़ियां तैनात हैं. पुलवामा हमले के बाद सरकार ने अलगाववादियों पर बड़ी कार्रवाई की है. सरकार ने हमले के बाद साफ कर दिया था कि हम देश विरोधी ताकतों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे.

गृह मंत्रालय के प्रवक्ता के मुताबिक, ऐसा महसूस किया गया कि अलगाववादियों को सुरक्षा प्रदान करना जम्मू-कश्मीर के संसाधनों का दुरुपयोग करना है जिनका बेहतर इस्तेमाल किया जा सकता है. इससे पहले, बीते रविवार को चार नेताओं की सुरक्षा वापस ली गई थी.

इसके अलावा, 155 नेताओं और कार्यकर्ताओं की सुरक्षा भी वापस ली गई है जिन्हें सुरक्षा धमकी और उनकी गतिविधियों के चलते प्रदान की गई थी. इसमें हाल ही में आईएएस से इस्तीफा देने वाले शाह फैसल भी शामिल है.