कांग्रेस और गांधी परिवार ने कोरोना संकट के दौरान सस्‍ती राजनीति की: जेपी नड्डा

जेपी नड्डा ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान बीजेपी ने मजूदरों की पूरी मदद करने की कोशिश की है.

कांग्रेस और गांधी परिवार ने कोरोना संकट के दौरान सस्‍ती राजनीति की: जेपी नड्डा

नई दिल्‍ली: बीजेपी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि कांग्रेस ने कोरोना काल में गैर-जिम्‍मेदाराना और सस्‍ती राजनीति की. उन्‍होंने कहा कि खासकर गांधी परिवार ने संकट के समय में मजदूरों के नाम पर राजनीति की. Zee News के एडिटर-इन-चीफ सुधीर चौधरी के साथ एक्‍सक्‍लूसिव बातचीत में उन्‍होंने ये बात कही. 

उन्‍होंने कहा कि सोनिया गांधी ने प्रवासी मजदूरों के लिए रेल टिकट खरीदकर देने के नाम पर राजनीति की. इसी तरह राहुल गांधी नियमित रूप से लॉकडाउन और कोरोना के मुद्दे पर इंटरव्‍यू दे रहे हैं या अलग-अलग क्षेत्रों के प्रसिद्ध लोगों से बात कर रहे हैं. उसके बाद वे लगातार सरकार की आलोचना कर रहे हैं. पहले कहते रहे कि लॉकडाउन क्‍यों लगाया? अब जब हट रहा है तो कह रहे हैं कि इसको हटा क्‍यों रहे हैं? जबकि उनको ये सवाल राजस्‍थान, छत्‍तीसगढ़ की कांग्रेस सरकारों से भी करना चाहिए. अगर राहुल गांधी के तर्कों के आधार पर राजनीति की जाए तो इन राज्‍यों ने लॉकडाउन का लगातार समर्थन करते हुए अपने यहां इन पाबंदियों को क्‍या लगाया? वह कभी मजदूरों से मिलने चले जाते हैं. वे सस्‍ती राजनीति कर रहे हैं.  जेपी नड्डा ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान बीजेपी ने मजूदरों की पूरी मदद करने की कोशिश की है. 

EXCLUSIVE- भारत-चीन सीमा विवाद पर भारत सरकार की नजर: जेपी नड्डा

पीएम मोदी के हाथों में देश सुरक्षित
उन्‍होंने कहा कि देश पीएम मोदी के हाथों में सुरक्षित है. भारत-चीन सीमा विवाद (India-China face off) पर भारत सरकार की नजर है. भारत का स्वाभिमान अटूट रहेगा. देश की आन-बान-शान के लिए कुछ भी करेंगे. नड्डा ने कहा कि कि पीएम मोदी के नेतृत्व में कोरोना से लड़ने की जो रणनीति बनाई गई, वह पूरे विश्व के लिए अनुकरणीय है. पीएम मोदी ने लॉकडाउन का निर्णय सही समय पर लिया. कोरोना संकट दुनिया के लिए नया अनुभव है. यह संकट अकल्पनीय है. कोरोना से लड़ाई में पीएम मोदी ने नई ऊर्जा दी. पीएम मोदी ने कोरोना संकट से देश को बचाया है.

LIVE TV

प्रवासी मजदूरों की समस्या को ध्यान में रखते हुए बिहार चुनाव में क्या असर होगा? इस सवाल के जवाब में नड्डा ने कहा कि भारत की जनता पीएम मोदी के साथ है. कोरोना संकट के समय बीजेपी ने पूरे देश में काम किया है. बिहार में नीतीश कुमार ने बेहतर काम किया है. बिहार चुनाव में ज्यादा से ज्यादा सीटें जीतेंगे.

यह पूछे जाने पर कि आप पर बड़ी जिम्मेदारी है, चुनाव में पार्टी के बेहतर प्रदर्शन करने को लेकर क्या सोचते हैं? इस पर नड्डा ने कहा कि मैं अकेला नहीं बीजेपी एक टीम है. मेरे अंदर 'मैं' की भावना नहीं. टीम ने हमेशा बेहतर नतीजे दिए हैं. अमित शाह से सानिध्य और सहयोग मिलता है. हमारी टीम में हर खिलाड़ी की अपनी भूमिका होती है. कैप्टन बनने से बैटिंग ऑर्डर नहीं बदलता है. पार्टी में हर व्यक्ति की अपनी भूमिका होती है. 

कोरोना संकट में देश की अर्थव्यवस्था को लेकर नड्डा ने कहा कि पूरा देश पीएम के साथ है और हमें पूरा विश्वास है कि देश एक बार फिर से विकास के रास्ते पर दौड़ेगा. चीन के विकास के आंकड़ों पर सवाल उठाते हुए बीजेपी अध्यक्ष नड्डा ने कहा कि चीन से देश की तुलना पूरी तरह से गलत है. लद्दाख में जारी गतिरोध के मुद्दे पर नड्डा ने कहा कि पीएम मोदी के हाथों में देश सुरक्षित है. भारत-चीन सीमा विवाद पर भारत सरकार की नजर है. भारत का स्वाभिमान अटूट रहेगा. देश की आन-बान-शान के लिए कुछ भी करेंगे.

चीन से तुलना नहीं
चीन के विकास के आंकड़ों पर सवाल उठाते हुए बीजेपी अध्यक्ष नड्डा ने कहा कि चीन से देश की तुलना पूरी तरह से गलत है. लद्दाख में जारी गतिरोध के मुद्दे पर नड्डा ने कहा कि पीएम मोदी के हाथों में देश सुरक्षित है. भारत-चीन सीमा विवाद पर भारत सरकार की नजर है. भारत का स्वाभिमान अटूट रहेगा. देश की आन-बान-शान के लिए कुछ भी करेंगे. 

2024 का चुनाव कैसा होगा?
आने वाले दिनों में देश की राजनीति कैसी होगी? इस सवाल के जवाब में नड्डा ने कहा कि कोरोना काल में चुनाव प्रचार बदल जाएगा. बिहार चुनाव हम कोरोना के साये में लड़ेंगे. बीजेपी ने जनभागीदारी की शुरुआत की है. हमें पूरा भरोसा है कि इसके परिणाम सुखद रहेंगे. पीएम मोदी ने जनता को भागीदार बनाया है. पीएम मोदी का जनता से सीधा संवाद है. 

यह पूछे जाने पर कि क्या बीजेपी पश्चिम बंगाल में कोई बड़ा उलटफेर करेगी? इस पर नड्डा ने कहा कि हम पश्चिम बंगाल में बड़ी जीत दर्ज करने जा रहे हैं और पश्चिम बंगाल में बीजेपी सरकार बनाएगी. हर चुनाव दूसरे से अलग होता है. महाराष्ट्र हम हारे नहीं है, हमारे साथ धोखा हुआ है. 

नड्डा ने कहा कि दूसरे क्षेत्रीय दलों का क्या होगा, इस पर तो कुछ नहीं कहा जा सकता है. 2024 में देश का राजनीतिक परिदृश्य ही कुछ और होगा. भारत दुनिया का सबसे चमकता देश होगा.