close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आर्मी चीफ के बयान का रिजिजू ने किया समर्थन, बोले- जनरल ने राष्ट्रीय हित में बात की, इसका गलत अर्थ नहीं निकालें

केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने कश्मीर में आतंकवाद रोधी अभियानों के दौरान बाधा डालने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के सेना प्रमुख बिपिन रावत के बयान का आज समर्थन किया।

आर्मी चीफ के बयान का रिजिजू ने किया समर्थन, बोले- जनरल ने राष्ट्रीय हित में बात की, इसका गलत अर्थ नहीं निकालें

नई दिल्ली : केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने कश्मीर में आतंकवाद रोधी अभियानों के दौरान बाधा डालने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के सेना प्रमुख बिपिन रावत के बयान का आज समर्थन किया।

दिल्ली में उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘पत्थरबाजों और राष्ट्रीय हित के खिलाफ जो भी काम करेगा, उसके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए क्योंकि राष्ट्रीय हित सर्वोपरि है।’ रिजिजू की यह टिप्पणी जनरल रावत के बयान की पृष्ठभूमि में आई है। रावत ने कहा था कि कश्मीर घाटी में स्थानीय लोगों के शत्रुतापूर्ण आचरण के कारण लोग अधिक हताहत होते हैं और सुरक्षा बलों की आतंकवाद रोधी अभियानों के दौरान हमला करने वालों के साथ ‘राष्ट्र विरोधी’ के तौर पर बर्ताव होगा और उनके खिलाफ ‘सख्त कार्रवाई’ होगी।

उन्होंने कहा, ‘सेना प्रमुख ने जो कुछ भी कहा है वह उन्होंने राष्ट्रीय हित में बोला है। इसका गलत अर्थ लगाने की कोई आवश्यकता नहीं है। सेना प्रमुख के बयान में कुछ गलत नहीं है।’ जम्मू कश्मीर में मौजूदा सुरक्षा हालात के बारे पर गृह राज्यमंत्री ने कहा कि नियमित कानून व्यवस्था मामलों पर वह टिप्पणी नहीं करेंगे।

और पढ़ें: सेना प्रमुख बिपिन रावत की सख्‍त चेतावनी- आतंकियों की मदद करने वाले भी हैं 'आतंकी', ऐसे लोगों की अब खैर नहीं

कश्मीर घाटी में दो अलग अलग मुठभेड़ों में एक मेजर समेत सेना के चार जवानों शहीद होने के एक दिन बाद जनरल रावत का यह बयान सामने आया था। बहरहाल, मंगलवार को हुई मुठभेड़ में चार आतंकवादी भी मारे गये थे। विपक्षी नेशनल कॉन्फ्रेंस ने पत्थरबाजों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की चेतावनी वाले सेना प्रमुख के बयान को आज ‘दुखद’ बताया है और कहा कि सरकार को घाटी के ‘भटके हुए युवकों’को राजनीति में घसीटने की जरूरत नहीं है।