खाने में कॉकरोच मिलने पर यात्री ने कहा- 'सिर्फ माफी नहीं, एक्शन ले AIR INDIA'

शिकायतकर्ता रोहित राज चौहान ने कहा कि एयर इंडिया होटल और क्रू मेंबर्स दोनों के खिलाफ एक्शन लेना चाहिए. 

 खाने में कॉकरोच मिलने पर यात्री ने कहा- 'सिर्फ माफी नहीं, एक्शन ले AIR INDIA'
तस्वीरें वायरल होने के बाद एयर इंडिया ने अपने यात्री से माफी मांग ली है.

नई दिल्ली: सफर कर रहे यात्रियों के सेहत सुरक्षा किसके हाथों में हैं, सवाल इसलिए क्योंकि एयर इंडिया की फ्लाइट में सफर कर रहे एक यात्री को परोसे गए खाने में कॉकरोच निकला. तस्वीरें वायरल होने के बाद हालांकि, एयर इंडिया ने अपने यात्री से माफी मांग ली है. लेकिन, शिकायतकर्ता रोहित राज चौहान का कहना है कि माफी से काम नहीं चलेगा. एयर इंडिया को उस होटल से टेंडर कैंसिल कर देना चाहिए, जहां से वो खाना आया था. 

ज़ी मीडिया से बात करते हुए रोहित राज चौहान बताया कि शनिवार (02 फरवरी) सुबह वह एयर इंडिया की फ्लाइट AI-634 में सवार होकर भोपाल से मुंबई के लिए सफर कर रहे थे. इसी दौरान उनको फ्लाइट में ब्रेकफास्ट परोसा गया. उन्होंने बताया कि ब्रेकफास्ट में सांबर वड़ा परोसा गया था और जैसे ही वो ब्रेकफास्ट करने लगे, तो उन्होंने देखा कि सांबर में एक कॉकरोच है. खाने में कॉकरोच देखते ही उन्होंने इसकी शिकायत क्रू मेंबर से की. आरोप है कि शिकायत के बाद भी क्रू मेंबर्स ने उनकी बात को नजरअंदाज कर दूसरे यात्रियों को वैसे ही ब्रेकफास्ट के पैकेट्स दूसरे यात्रियों को परोस दिया. 

 

दिलीप बिल्डकॉन लिमिटेड में काम कर रहे शिकायतकर्ता रोहित राज चौहान का कहना है कि भले अपनी गलती पर एयर इंडिया ने माफी मांग ली हो, लेकिन ऐसा पहली बार नहीं हुआ है. पहले भी कई ऐसी घटना सामने आईं हैं, जिसमें यात्रियों की सेहत के साथ खिलवाड़ किया गया है. इसलिए एयर इंडिया को उस होटल के खिलाफ एक्शन लेना चाहिए, जिससे एयर इंडिया का टेंडर था. इसके साथ ही उन क्रू मेंबर्स के खिलाफ भी एक्शन लिया जाना चाहिए, जिन्होंने शिकायत के बाद भी दूसरे यात्रियों को ब्रेकफास्ट बांटा.

रोहित राज ने बताया कि उनकी शिकायत के बाद उनके आस-पास बैठे यात्रियों ने ब्रेकफास्ट नहीं किया, लेकिन क्रू मेंबर्स शिकायत के बाद भी लोगों को वो ब्रेकफास्ट करने से नहीं रोका. आपको बता दें कि इस बड़ी लावरवाही को लेकर यात्री ने फ्लाइट की कंप्लेंट कॉपी में अपनी शिकायत दर्ज कराते हुए क्रू मेंबर से सिग्नेचर करा लिए थे और इस मामले की जानकारी सोशल मीडिया पर शेयर की थी, जिसके बाद मामला सामने आया था. मामला मीडिया आने के बाद ही एयर इंडिया ने मापी मांगी थी.