close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

छत्तीसगढ़ः सुकमा में IED ब्लास्ट में DRG के 2 जवान घायल, एयरलिफ्ट कर लाए गए अस्पताल

गोगुंडा में सुबह नक्सलियों ने आईईडी ब्लास्ट कर दिया. जिससे हमले में जिला रिजर्व गार्ड के दो जवान बुरी तरह से घायल हो गए हैं. घायल जवानों को एयरलिफ्ट करने की कोशिश की जा रही है.'

छत्तीसगढ़ः सुकमा में IED ब्लास्ट में DRG के 2 जवान घायल, एयरलिफ्ट कर लाए गए अस्पताल
फाइल फोटो

नई दिल्लीः छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के केरलापाल इलाके के गोगुंडा पहाड़ी में आईईडी ब्लास्ट हो गया, जिसमें जिला रिजर्व गार्ड (DRG) के दो जवान बुरी तरह से घायल हो गए. जिनकी हालत गंभीर बताई जा रही है. सुकमा जिले के एएसपी शुलभ सिन्हा ने आईईडी ब्लास्ट की जानकारी देते हुए बताया कि 'सुकमा जिले के केरलापाल इलाके के गोगुंडा में सुबह नक्सलियों ने आईईडी ब्लास्ट कर दिया. जिससे हमले में जिला रिजर्व गार्ड के दो जवान बुरी तरह से घायल हो गए हैं. घायल जवानों को एयरलिफ्ट करने की कोशिश की जा रही है.'

सुकमा के एएसपी शुलभ सिन्हा ने बताया कि जवान केरलापाल इलाके में सर्चिंग के लिए निकलते थे. तभी घात लगाकर बैठे नक्सलियों ने जवानों पर हमला बोल दिया और इसी दौरान वहां आईईडी ब्लास्ट हुआ, जिसमें दो जवान बुरी तरह से घायल हो गए. पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है. बता दें बीते सोमवार को भी छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र की सीमा से सटे भमरागड़ के जंगल मे सुरक्षा बल और नक्सलियों में मुठभेड़ हुई थी. जिसमें करीब आधे घंटे तक चली दोनो ओर से फायरिंग के बाद नक्सली भाग निकले. सुरक्षा बल ने मौके से नक्सली सामग्री भी बरामद की थी. घटना महाराष्ट्र के गढ़चिरोली जिले में हुई.

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों पर बहुत बड़ा 'प्रहार', अब तक 9 नक्सलियों के शव बरामद, 2 जवान भी शहीद

बते दें चुनावों के चलते नक्सली इन इलाकों में पहले ही बंद का ऐलान कर चुके थे. पर्चों और बैनर के जरिए नक्सलियों ने राजनांदगांव जिले से सटे महाराष्ट्र के गढचिरौली जिले में बंद का ऐलान किया था.  बंद के दौरान नक्सलियो ने कई जगह सड़को पर पेड काट कर यातायात बाधित किया वही  वनविभाग के लकडी डिपो को लगाई  तो ग्राम  गुरुपल्ली में आम ग्रामिणो ने नक्सलियो की हरकतो से तंग आकर नक्सली बैनर जलाकर नक्सलियों का विरोध कर दिया. गांव में लगे नक्सली लाल बैनरो और पोस्टरों को ग्रामीणों ने निकल कर आग के हवाले कर दिया और नक्सलियों के खिलाफ नारे भी बुलंद किए.