close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

छत्‍तीसगढ़ बना पुलिस फोर्स में ट्रांसजेंडर्स को मौका देने वाला पहला प्रदेश

हमारे समाज मे महिला पुरुष के अलावा अब थर्ड जेंडर को मुख्यधारा से जोड़ने के लिए सरकार ने जो पहल की उसका असर अब सरकारी नौकरियों में देखने को मिल रहा है. 

छत्‍तीसगढ़ बना पुलिस फोर्स में ट्रांसजेंडर्स को मौका देने वाला पहला प्रदेश
फोटो साभार: ANI

रायपुर: पूरे देश में ट्रांसजेंडर्स को आगे बढ़ने के लिए प्रदेश सरकारें मौका दे रही हैं. इसी कड़ी में छत्‍तीसगढ़ का नाम भी जुड़ गया है. हमारे समाज मे महिला पुरुष के अलावा अब थर्ड जेंडर को मुख्यधारा से जोड़ने के लिए सरकार ने जो पहल की उसका असर अब सरकारी नौकरियों में देखने को मिल रहा है. सरगुजा में पुलिस आरक्षक की भर्ती के लिये 17 थर्ड जेंडर आवेदकों ने आवेदन किया है. बता दें कि पुलिस भर्ती में ऐसी पहल करने वाला छत्‍तीसगढ़ पहला राज्‍य बन गया है. 

न्‍यूज एजेंसी ANI ने एक पोस्‍ट करके इस बात की जानकारी दी जिसमें शामिल कैंडिडेट्स ने अपनी खुशी जाहिर करते हुए कहा कि सरकार की इस पहल से बहुत खुश हैं और हम पूरी मेहनत के साथ इस टेस्‍ट को क्‍लीयर करेंगे. सरकार ने इन्हें बराबरी का दर्ज़ा देकर जिस मुख्यधारा में लाने का हक दिया है उससे अब ये विशेष समुदाय काफ़ी उत्साहित नजर आ रहा है. 

बहरहाल सरकार के इस पहल से वर्ग विशेष के लोग जहां ख़ुश हैं वहीं सम्बन्धित भर्ती ड्यूटी में लगे अधिकारियों के लिए भी एक नया अनुभव है. समाज में कोई भी वर्ग पीछे न रह जाए इसलिए ये पहल सबके लिए हितकारी है. सरगुजा पुलिस अधीक्षक की मानें तो कुल 17 थर्ड जेंडर ने पुलिस आरक्षक की नौकरी के लिए आवेदन दिया था जिसमे 2 कैंडिडेट अपीयर हो सके हैं. इनका हौसला देखकर  उम्मीद की जा रही है कि इन्हें इस परीक्षा में बेहतर परिणाम मिलेगा और अब बाकी सामान्य लोगों की तरह ही ये भी नौकरी कर पाएंगे.