कंप्यूटर बाबा ने दी केंद्र को चेतावनी- 'राम मंदिर निर्माण का एफिडेविट नहीं दिया तो देश में होगा आंदोलन'

कंप्यूटर बाबा ने केंद्र सरकार  से कहा है अगर जनवरी माह के अंत तक अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का एफिडेविट नहीं देती तो देश भर के संत इकट्ठा होकर आंदोलन करेंगे.'

कंप्यूटर बाबा ने दी केंद्र को चेतावनी- 'राम मंदिर निर्माण का एफिडेविट नहीं दिया तो देश में होगा आंदोलन'

भोपालः अपने विवादित बयानों को लेकर हमेशा सुर्खियों में बने रहने वाले कंप्यूटर बाबा एक बार फिर अपने बयान की वजह से चर्चा में बने हुए हैं. कंप्यूटर बाबा ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर केंद्र सरकार को अल्टीमेटम देते हुए कहा कि 'केंद्र सरकार अगर जनवरी माह के अंत तक अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का एफिडेविट नहीं देती तो देश भर के संत इकट्ठा होकर आंदोलन करेंगे.' वहीं भाजपा नेताओं की मानें तो बाबा धर्म का रास्ता छोड़ अब राजनीति की राह पर चल पड़े हैं और राम मंदिर का मुद्दा उठाना भी उनकी राजनीति का हिस्सा है. भाजपा के एक नेता ने कहा कि बाबा को अब साधू का चोला उतार राजनीति शुरू कर देनी चाहिए.

कांग्रेस टैली पर जेडीयू नेता के सी त्यागी का बयान

बता दें कंप्यूटर बाबा कभी प्रदेश की भाजपा सरकार में राज्यमंत्री हुआ करते थे, लेकिन मतभेदों के चलते कंप्यूटर बाबा ने राज्यमंत्री छोड़ भाजपा सरकार के खिलाफ आंदोलन छेड़ दिया था. जिसके बाद अब बाबा ने राज्य के बाद केंद्र सरकार को भी चुनौती देना शुरू कर दिया है. वहीं भाजपा ने बाबा को संत का चोला छोड़ राजनीति करने की सलाह दे डाली. बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता उमेश शर्मा ने कहा की बाबा राम मंदिर के नाम पर राजनीति करना चाहते है. उन्हें लगता है ऐसा करने से उन्हें कांग्रेस में बड़ा पद मिल जाएगा. बाबा संत का चोला छोड़ राजनीति में आये तो पता चलेगा रसजनीति क्या होती है.

NDA में अब तम‍िलनाडु में फंसा पेंच, अन्‍नाद्रमुक BJP के साथ दोस्‍ती पर नहीं खोल रही पत्‍ते!

बता दें इससे पहले कंप्यूटर बाबा ने हनुमान जी की जाति पर चल रही राजनीति पर भी सवाल खड़े करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर भी निशाना साधा था. सीएम योगी पर निशाना साधते हुए कंप्यूटर बाबा ने कहा था कि 'योगी आदित्यनाथ जी ने हनुमान जी को लेकर जो बात कही है, वह बिल्कुल गलत है. इस मामले पर योगी जी को सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए.'' वहीं उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के माफी न मागने पर उनके खिलाफ आंदोलन करने की भी बात कही थी. उन्होंने कहा था कि 'अगर वह ऐसा नहीं करते हैं तो हम उनके खिलाफ आंदोलन करेंगे. प्रधानमंत्री मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी दोनों ही धर्म विरोधी हैं. मुख्यमंत्री योगी के 'हनुमान जी को दलित' दलित बताने वाले बयान से हम बेहद दुखी हैं, इसलिए अब हम उनके खिलाफ कोर्ट तक जाएंगे.'