close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मध्य प्रदेश में इस वर्ष 39 लोगों की स्वाइन फ्लू से हुई मौत : स्वास्थ्य मंत्री

देश के स्वाथ्य मंत्री तुलसीराम सिलावट ने कहा, ‘प्रदेश में एच1एन1 वायरस की रोकथाम के लिए सभी उपाय किये जा रहे हैं.' 

मध्य प्रदेश में इस वर्ष 39 लोगों की स्वाइन फ्लू से हुई मौत : स्वास्थ्य मंत्री
(प्रतीकात्मक फोटो)

भोपाल: मध्यप्रदेश सरकार ने बताया कि इस वर्ष अब तक स्वाइन फ्लू से प्रदेश में 39 लोगों की मौत हो चुकी है. प्रदेश के स्वाथ्य मंत्री तुलसीराम सिलावट ने शनिवार को बताया, ‘प्रदेश में एच1एन1 वायरस की रोकथाम के लिए सभी उपाय किये जा रहे हैं. प्रदेश और संभागीय स्तर पर स्थिति की निगरानी के लिये विशेषज्ञ समितियां बनाई गई हैं. इन्दौर संभाग के अधिकारियों के बैठक मैंने आज ही ली है.’

उन्होंने बताया कि प्रदेश में इस वर्ष अब तक इस बीमारी की चपेट में आने से 39 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि स्वाइन फ्लू से ग्रसित 167 मरीजों की पहचान की गयी. प्रदेश में वर्ष 2018 में 34 मरीजों की स्वाइन फ्लू से मौत हुई थी जबकि इस साल के शुरूआती दो माह में ही इस बीमारी से 39 लोगों की मौत हो चुकी है.

इससे पहले शुक्रवार को स्वाइन फ्लू से पीड़ित मरीजों के मामले बढ़ने पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने लोगों से अपील की थी कि बीमारी के शुरुआती लक्षण समझ आने के बाद तुरंत निकट के अस्पताल में जाकर जांच और इलाज करवाएं.

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को इन्दौर में स्वाइन फ्लू के परीक्षण के लिये विषाणु विज्ञान प्रयोगशाला (वाइरोलॉजी लैब) शीघ्र स्थापित करने के निर्देश दिये ताकि मरीजों की शीघ्र जांच कर बिना किसी विलम्ब के इस बीमारी का इलाज शुरु किया जा सके. फिलहाल प्रदेश में यह सुविधा केवल भोपाल के एम्स और जबलपुर के आईसीसीएमआर संस्थान में ही उपलब्ध है.