मंदसौर: पार्टी कार्यालय में आपस में भिड़े कांग्रेसी, चले लात-घूंसे, पूर्व जिलाध्यक्ष घायल

वहीं, सूचना पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने ipc की धारा 294, 323, 506, 34 के तहत 8 लोगों पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. मामले में पूर्व जिला अध्यक्ष खलील शेख पर भी FIR दर्ज हुई है. मामले को लेकर पूर्व जिला अध्यक्ष खलील शेख ने कहा कि सोमिल के इशारे पर उनके साथ मारपीट की गई. 

मंदसौर: पार्टी कार्यालय में आपस में भिड़े कांग्रेसी, चले लात-घूंसे, पूर्व जिलाध्यक्ष घायल

मनीष पुरोहित/मंदसौर: मंदसौर कांग्रेस में गुटबाजी का सिलसिला थमने का नाम ही नही ले रहा है. पार्टी में यह कई मौके पर दिखता भी रहता है. ऐसा ही एक वाकया रविवार को कांग्रेस कार्यालय में देखने को मिला. यहां किसी बात को लेकर पार्टी के दो गुट आपस में भीड़ गए. इस दौरान दोनों गुटों के बीच जमकर गाली-गलौज और मारपीट हुई. वहीं, इस मारपीट में बीच-बचाव करने आए शहर के पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष खलील शेख और कांग्रेस नेता सोमिल को चोट लगने की खबर है. जानकारी के मुताबिक हंगामा उस दौरान हुआ, जब वरिष्ठ कांग्रेस नेता बटुक शंकर जोशी नगर पालिका चुनाव के लिए दावेदारों से मिलने पर्यवेक्षक बनकर पार्टी कार्यालय पहुंचे थे.

पूर्व मंत्री का दावा- बंगाल में बनेगी ममता सरकार, कैलाश विजयवर्गीय दीदी के पैरों में गिरकर मांगेंगे माफी

वहीं, सूचना पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने ipc की धारा 294, 323, 506, 34 के तहत 8 लोगों पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. मामले में पूर्व जिला अध्यक्ष खलील शेख पर भी FIR दर्ज हुई है. मामले को लेकर पूर्व जिला अध्यक्ष खलील शेख ने कहा कि सोमिल के इशारे पर उनके साथ मारपीट की गई. 

खबर यह भी है कि हंगामा तब शुरू हुआ, जब खलील ने खुद पर दर्ज हुए एक मामले में पर्यवेक्षक बटुक शंकर जोशी की उपस्थिति में ही पूर्व मंत्री के लोगों पर मामला दर्ज करवाने के आरोप लगाए. वहीं, सोमिल ने अपने ऊपर लगे आरोपों को निराधार बताया है. सोमिल का कहना है कि उन्होंने बीच-बचाव कर सिर्फ झगड़ा रोकने का प्रयास किया.

Covid-19 वैक्सीन लगवाने के अगले दिन डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव, सांसद, विधायक से भी मिले थे

उधर इस मामले को लेकर बीजेपी ने कांग्रेस को अड़े हाथ लिया है. मंदसौर से बीजेपी विधायक यशपाल सिंह सिसोदिया ने तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस, बीजेपी को चुनौती देने का दावा कर रही है. लेकिन वे खुद की गुटबाजी से नहीं निपट पा रहे हैं. इसके अलावा विधायक यशपाल सिसोदिया ने पार्टी कार्यालय में हुई इस घटना को शर्मनाक और चिंताजनक बताया. 

उमा भारती बोलीं- किसान जिद छोड़ें, सरकार भी समझे; 2024 लोकसभा चुनाव लड़ने का किया ऐलान

शिवराज सरकार को अस्थिर बता कांग्रेस ने राज्यपाल को चिट्ठी लिख की दखल देने की मांग​

WATCH LIVE TV-