MP: भिंड में खनिज माफियाओं के बीच हुए गैंगवार पर खनिज मंत्री प्रदीप जायसवाल ने कही ये बात

मध्यप्रदेश खनिज मंत्री प्रदीप जायसवाल ने बड़ा बयान दिया है. प्रदीप जायसवाल का कहना है, कि खनिज के कॉम्पिटिशन में गैंगवार हो जाता है और यह भिंड, मुरैना, ग्वालियर का माहौल है यहां हर घर मे बंदूक का लाइसेंस है. 

MP: भिंड में खनिज माफियाओं के बीच हुए गैंगवार पर खनिज मंत्री प्रदीप जायसवाल ने कही ये बात
प्रदीप जायसवाल का कहना है भिंड,मुरैना,ग्वालियर क्षेत्र में खाने-पीने से ज्यादा रिवाल्वर रखना जरूरी समझते हैं लोग

विवेक पटैया/भोपाल: मध्यप्रदेश के भिंड जिले के लहार थाना क्षेत्र में परायच रेत खदान पर रेत माफियाओं के बीच हुआ गैंगवार. जिसमें गोली लगने से एक व्यक्ति की मौत पर मध्यप्रदेश खनिज मंत्री प्रदीप जायसवाल ने बड़ा बयान दिया है. प्रदीप जायसवाल का कहना है, कि खनिज के कॉम्पिटिशन में गैंगवार हो जाता है और यह भिंड, मुरैना, ग्वालियर का माहौल है यहां हर घर मे बंदूक का लाइसेंस है. 

प्रदीप जायसवाल का कहना है कि भिंड,मुरैना,ग्वालियर के लोग शस्त्र लाइसेंस लेना गौरव की बात समझते हैं और यहां लोग डराने धमकाने के लिए और आत्म रक्षा के लिए हवाई फायरिंग भी करते है. उन्होने कहा कि मध्यप्रदेश में ऐसा माहौल और कही नही है, साथ ही प्रदीप जायसवाल का कहना है भिंड,मुरैना,ग्वालियर क्षेत्र में लोग खाने-पीने से ज्यादा रिवाल्वर रखना जरूरी समझते हैं. प्रदीप जायसवाल ने कहा भिंड जिले में रेत खदान पर हवाई फायर हुआ है जिसे पुलिस ने संभाल लिया है. साथ ही खनिज मंत्री का कहना है कि रेत खनन के दौरान आपसी कॉम्पिटिशन के चलते अक्सर तनाव का माहौल रहता है.

जायसवाल ने दावा करते हुए कहा नई रेत पॅालिसी के अंतर्गत जिले में एक ठेकेदार रहेगा, जिससे आने वाले समय मे तनावपूर्ण वातावरण नही हो पाएगा. उन्होने बताया कि खनिज विभाग होमगार्ड की सहायता से कार्यवाही करता है और हमने शासन को विशेष जिलों जैसे भिंड ,मुरैना, ग्वालियर में SAF के जवान रखने का प्रस्तवा भेजा है. फिलहाल माफियाओं पर कार्रवायी चल रही है. और BJP पर निशाना साधते हुए उन्होने कहा, सरकार में 15 साल जो लूट हुई, उनपर अब हमारा ध्यान है, और नियम विरुद्ध क्रेशर चलाने वालो पर कार्रवायी करने की भी बात कही. जायसवाल ने बताया कि गिट्टी क्रेशर वालो ने प्रदेश में 15 साल नियम विरुद्ध अंधाधुंध काम किया है, क्रेशर वालो ने लीज वाली जमीन पर स्वीकृति से ज्यादा खनन किया है,जिससे सरकार को रॉयल्टी का नुकसान हुआ है जिसके खिलाफ क्रेशर वालो को लेकर अभियान चलाया जाएगा.