MP: नाबालिग लड़की से छेड़छाड़ का विरोध करने पर हुआ खूनी संघर्ष, 8 घायल, चार की हालत गंभीर

दरअसल, दमोह के देहात थाना के एक गांव की स्कूली छात्रा को पड़ोस के गांव में रहने वाला एक मनचला पिछले डेढ़ साल से तंग कर रहा था. 

MP: नाबालिग लड़की से छेड़छाड़ का विरोध करने पर हुआ खूनी संघर्ष, 8 घायल, चार की हालत गंभीर
घायलों में चार की हालत नाजुक बनी हुई है. वहीं, पुलिस फ़िलहाल मामले की जांच कर रही है.

महेंद्र दुबे/दमोह: मध्यप्रदेश में लाख दावों के बाद भी महिलाओं और नाबालिग लड़कियों के खिलाफ अपराध के मामले थम नहीं रहे हैं. इन सबके बीच सूबे के दमोह से एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. यहां एक नाबालिग स्कूली छात्रा के साथ हो रही  छेड़छाड़ का विरोध करने पर खूनी संघर्ष हो गया. वहीं, इस मामले में आठ लोग घायल भी हो गए. घटना के बाद से ही इलाके में दहशत का माहौल है.

दरअसल, दमोह के देहात थाना के एक गांव की स्कूली छात्रा को पड़ोस के गांव में रहने वाला एक मनचला पिछले डेढ़ साल से तंग कर रहा था. पीड़ित परिवार ने सारी कोशिशें की लेकिन, मनचला बाज नहीं आ रहा था. लिहाजा लड़की की पढ़ाई बंद करा दी गई. परिजनों ने बताया कि वह पहले भी छेड़छाड़ के विरोध में तीन बार दमोह की जबलपुर नाका चौकी में शिकायत दर्ज करा चुके थे. लेकिन, मनचले के ऊपर पुलिस का खौफ नहीं नहीं था. 

पीड़िता के परिजनों ने बताया कि बुधवार की देर रात करीब बीस गुंडों को लेकर मनचला रत्नेश यादव पीड़िता के घर आ धमका. परिजनों ने कहा कि रत्नेश ने पहले दनादन फायरिंग की और फिर पूरे परिवार पर जानलेवा हमला कर दिया. इस हमले में लड़की का पूरा परिवार घायल हुआ है. पीड़िता के पिता का कहना है कि बचाव में उसकी तरफ से भी गुंडों का मुकाबला किया गया और दूसरे पक्ष से भी लोग घायल हैं.

इस खूनी संघर्ष के बाद इलाके में दहशत फ़ैल गई और मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को जिला अस्पताल भेजा. जहां घायलों का इलाज किया जा रहा है. घायलों में चार की हालत नाजुक बनी हुई है. वहीं, पुलिस फ़िलहाल मामले की जांच कर रही है. सीएसपी मुकेश अबिद्रा के मुताबिक गांव में पुलिस बल तैनात किया गया है और घायलों के बयानों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी.