close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मध्य प्रदेश में किसान कर्ज माफी की शुरुआत, 50 लाख किसानों का होगा कर्ज माफ

मध्य प्रदेश किसानों की कर्ज माफी का सिलसिला शुक्रवार से शुरू हो गया. 

मध्य प्रदेश में किसान कर्ज माफी की शुरुआत, 50 लाख किसानों का होगा कर्ज माफ
मुख्यमंत्री ने टोकन के रूप में कुछ किसानों को कर्ज माफी के प्रमाण-पत्र वितरित किए.

रतलाम: मध्य प्रदेश किसानों की कर्ज माफी का सिलसिला शुक्रवार से शुरू हो गया. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शुक्रवार को रतलाम जिले के नामली में जय किसान फसल ऋण माफी योजना की शुरुआत करते हुए 40 हजार से ज्यादा किसानों को 134 करोड़ रुपये की कर्ज माफी की. 

इस मौके पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा, "इस योजना में प्रदेश के 50 लाख किसानों का कर्ज माफ होगा, किसानों को आíथक रूप से मजबूत करना सरकार लक्ष्य है और इसके लिए हरसंभव प्रयास सरकार करेगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि नई सरकार विकास को सालों पर नहीं छोड़ेगी, वह दिन-प्रतिदिन और हफ्तों में विकास करने की पक्षधर है और इसी नीति पर हम आगे बढ़ रहे हैं."

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा, "हमारा वचन था कि किसानों का कर्जा माफ करेंगे. हमने तय समय-सीमा में यह वचन निभाया है. कम समय में इतनी बड़ी संख्या में किसानों की कर्ज माफी का यह एक अभूतपूर्व काम नई सरकार ने किया है."

कमलनाथ ने पिछली सरकार पर हमला करते हुए कहा, "नई सरकार घोषणाओं की सरकार नहीं है, यह काम करने वाली सरकार है. हमने यह तय किया है कि कोई भी काम कई सालों तक नहीं टलेगा. प्रतिदिन और हफ्तों में विकास की बुनियाद रखेंगे, जिससे लोगों को बदलाव महसूस हो और प्रदेश का तेजी से विकास हो."

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने नामली में जय किसान फसल ऋण माफी योजना की शुरुआत करते हुए नामली के किसान बाबूलाल भैरूलाल राठौर को एक लाख 95 हजार 447 रुपये का कर्ज माफी का प्रमाण-पत्र दिया. राठौर इस योजना के पहले लाभान्वित हितग्राही बने. समारोह में 40 हजार से ज्यादा किसानों के 134 करोड़ रुपये से अधिक के कर्ज की राशि माफ की गई. मुख्यमंत्री ने टोकन के रूप में कुछ किसानों को कर्ज माफी के प्रमाण-पत्र वितरित किए.

किसान-कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री सचिन सुभाष यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रदेश के अन्नदाता किसानों को दो लाख का कर्ज माफ करने का जो वचन दिया था, उसे आज वे निभा रहे हैं. कार्यक्रम को सांसद कांतिलाल भूरिया ने भी संबोधित किया.

ज्ञात हो कि राज्य में चुनाव से पहले कांग्रेस ने वचन पत्र जारी कर सत्ता में आने पर किसानों का दो लाख तक का कर्ज माफ करने का वादा किया था. मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही कमलनाथ ने कर्ज माफी की फाइल पर हस्ताक्षर किए थे. उसके बाद सरकार ने किसानों से आवेदन भरवाए और शुक्रवार से कर्ज माफी की रकम किसानों के खातों में जाना शुरू हो गई. राज्य में 50 लाख किसानों का 55 हजार का कर्ज माफ होना है.