महाकाल मंदिर में दर्शन की नई व्यवस्थाः इतना दान करने वाले भक्तों को एक साल फ्री मिलेंगा VIP से प्रवेश

दानदाताओं को प्रोत्साहित करने के लिए मंदिर समिति ने एक नया फैसला लिया है. 

महाकाल मंदिर में दर्शन की नई व्यवस्थाः इतना दान करने वाले भक्तों को एक साल फ्री मिलेंगा VIP से प्रवेश
बाबा महाकाल

राहुल सिंह राठौड़/उज्जैनः बाबा महाकाल के दर्शन व्यवस्था में अब एक नई सुविधा शुरू होने जा रही है. दरअसल, महाकालेश्वर मंदिर प्रबंधन समिति ने निर्णय लिया है कि सवा लाख रुपए से ज्यादा का दान दाने वाले श्रद्धालुओं को एक साल तक तक वीआईपी गेट से दर्शन की सुविधा मिलेगी. इसके लिए दानदाता और उसके परिवार के दो सदस्यों के नाम मंदिर समिति के कार्ड में लिखे रहेंगे, जिन्हें अगले एक साल तक वीआईपी गेट से दर्शन की सुविधा मिलेगी. 

दानदाताओं को प्रोत्साहित करने लिया गया फैसला 
दान शुल्क सुविधा का विवाद अभी ठंडा ही नहीं पड़ा था कि उसके बाद अब दानदाताओं को प्रोत्साहित करने के लिए एक और नया निर्णय लिया गया है. मंदिर समिति ने आदेश जारी करते हुए कहा कि 1 लाख 25000 की राशि जो दान दाता मंदिर में दान करेगा उसको और उसके परिवार के दो सदस्यों को एक साल तक VIP गेट से एंट्री दी जाएगी, आदेश की पुष्टि मंदिर की सहायक प्रसासक व सिक्युरिटी इनचार्ज पूर्णिमा सिंघी ने की है, हालांकि मंदिर में ये 1 लाख तक कि राशि की सुविधा पहले से थी जिसमें 25000 की अब बढ़ोतरी की गई है. 

पूर्णिमा सिंघी ने अधिक जानकरी देते हुए बताया कि दान दाताओं को प्रोत्साहित करने के लिए यह निर्णय लिया गया है. जो भी दानदाता 1 लाख 25000 व उससे अधिक का दान करेगा उनके लिए यह सुविधा दी जाएगी. इस सुविधा के हिसाब से दानदाता को एक कार्ड दिया जाएगा कार्ड के आधार पर दान दाता व उसके परिवार के दो सदस्यों को साल भर तक VIP गेट से प्रवेश मिलेगा. 

रेगुलर दर्शन सुविधा भी शुरू 
बता दें कि महाकाल मंदिर समिति ने इसी के साथ रेगुलर दर्शन करने आने वाले दर्शनार्थियों के लिए भी प्रवेश प्रकिया शुरू कर दी है, जो कोविड के कारण बंद कर दी थी, आदेश में मंदिर समिति ने समय तय किया है. सुबह 6 से 8 और शाम में 6 से 8 के समय में वीआईपी गेट से दर्शन कर सकेंगे, हर रोज नहीं आने पर मान्यता रद्द कर दी जाएगी है, हर रोज आने वाले नियमित श्रद्धालु के साथ अन्य किसी को एंट्री नहीं दी जाएगी, ये सभी नियमित श्रद्धालु आम जन के साथ ही दर्शन कर पाएंगे. 

कोरोना के चलते महाकाल मंदिर में दर्शन की व्यवस्था पर असर पड़ा था. लेकिन कोविड के मामले कम होने के बाद अब रेगुलर दर्शन की सुविधा भी शुरु कर दी गई है. जबकि एक लाख 25 हजार का दान करने वाले भक्तों को साल भर वीआईपी दर्शन की सुविधा दी गई है. जबकि भस्म आरती में भी दर्शन की सुविधा पहले की तरह ही लागू रहेगी. 

ये भी पढ़ेंः ग्वालियर के लोगों को मिली सौगात! इस ट्रेन का स्टॉपेज शुरू, कर सकेंगे तिरुपति बालाजी के दर्शन

WATCH LIVE TV