MP में खाद पर राजनीति! लाइन में अन्नदाता; शिवराज सरकार से मांगा गया श्वेतपत्र
topStories1rajasthan1449524

MP में खाद पर राजनीति! लाइन में अन्नदाता; शिवराज सरकार से मांगा गया श्वेतपत्र

MP Politics: मध्य प्रदेश में खाद के किल्लत के कारण किसान लगाइन पर लगे हैं और नेता अपने सियासत चमका रहे हैं. कांग्रेस सरकार पर हमलावर होकर श्वेतपत्र मांग रही है. वहीं मंत्री और भाजपा नेता लगातार बचाव में दावे कर रहे हैं. इन सबके बीच किसान उसी लाइन में खड़ा खाद का इंतजार कर रहा है.

MP में खाद पर राजनीति! लाइन में अन्नदाता; शिवराज सरकार से मांगा गया श्वेतपत्र

MP Politics: भोपाल। मध्य प्रदेश में खाद की समस्याओं को दूर करने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अफसरों को दिशा निर्देश दे चुके हैं. इसके बाद भी हालातों में कुछ खास सुधार नहीं हो रहे हैं. प्रदेश के ज्यादातर जिलों में किसान खाद के लिए परेशना हो रहे हैं. हालांकि, कुछ जगहों पर खाद मिल भी रही है. इस बीच इस सियासत भी गरमाई हुई है. मुख्यमंत्री के अफवाह वाले बयान पर कांग्रेस ने श्वेतपत्र मांग लिया है. वहीं मंत्री लगातार खाद की किल्लत न होने की रट लगाए हैं.

अफवाह पर होगी सख्त कार्रवाई
खाद संकट पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में खाद की पर्याप्त मात्रा है और निरंतर आपूर्ती की जा रही है. कुछ लोग भ्रम, अफवाह और आराजकता फैलाने का प्रयास कर रहे हैं. अफवाह फैलाने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि किसान अपनी जरूरत के हिसाब से खाद लें. मध्य प्रदेश में खाद की कोई कमी नहीं हैं.

ये भी पढ़ें: नर्मदांचल की बेटी को मिलेगा विक्रम अवार्ड, प्रदेश के 12 खिलाड़ियों का होगा सम्मान

कांग्रेस ने सरकार से मांगा श्वेतपत्र
मध्यप्रदेश में खाद पर सियासी आरपार बरकरार है. मुख्यमंत्री ने बिना नाम लिए इस मामले पर अराजकता फैलाने का आरोप लगाया. इस पर कांग्रेस भड़क गई. पूर्व सांसद प्रतापभानू शर्मा की सरकार से मामले में श्वेत पत्र लाने की मांग कर दी. इसके लिए उन्होंने शिवराज सरकार को 7 दिनों का अल्टीमेटम भी दे दिया. उन्होंने प्रदेश में खाद माफियाओं के हावी होने की बात कहते हुए राज्यपाल से मामले में हस्तेक्षेप की मांग की है.

Video: सतपुड़ा में पर्यटकों को मजा आ गया! कभी कभार ही ऐसे दिखते हैं टाइगर

खाद पर सियासत भी तेज
खाद की किल्लत को लेकर कांग्रेस प्रदेश सरकार के खिलाफ मुखर हो गई है. अगल-अलग जिलों में लगातार कांग्रेस नेता सरकार को घेर रहे हैं. कहीं आंदोलन की चेतावनी दी जा रही है तो कहीं बयानों का दौर जारी है. दूसरी और शिवराज सरकार के मंत्री और भाजपा नेता सरकार और पार्टी का बचाव करने में लगे हैं. हालांकि इस बीच किसानों के बालत जस के तस बने हुए हैं.

ये भी पढ़ें: मरीजों की जान से खिलवाड! ICU में घुसी गाय, 18 घंटे बाद भी स्वास्थ्य मंत्री बेखबर

कांग्रेस ने दी आंदोलन की चेतावनी
ग्वालियर में कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री लाखन सिंह यादव ने सरकार के दावों को नकार दिया है. उन्होंने कहा कि प्रदेश में किसान परेशान है. खाद की समस्या उठाने पर नेताओं के खिलाफ FIR दर्ज कर ली जाती है. अगर ऐसा ही रहा तो वो कांग्रेस विधायकों के साथ मिलकर आंदोलन करेंगे. सरकार को इसके परिणाम भोगने के लिए तैयार रहना चाहिए.

VIDEO: पुलिस का माल असुरक्षित! स्टेशन से बाइक उठा ले गया चोर

बचाव में भाजपा और सरकार
बीजेपी अल्पसंख्यक अध्यक्ष मोर्चा रफत वारसी ने कांग्रेस पर ब्लैक मार्केटिंग का आरोप लगा दिया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार में खाद की ब्लैक मार्केटिंग होती थी. अभी प्रदेश में सभी को खाद मिल रही है. यहां कोई माफिया नहीं हैं.

ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कांग्रेस के आरोपो को सिरे से खारिज कर दिया है. उन्होंने कहा कि प्रदेश में पहले से ज्यादा खाद वितरित की जा रही है. जहां कहीं भी थोड़ी समस्या है वहां सीएम के निर्देश पर प्रभारी मंत्री निगरानी बनाए हुए हैं. वो खाद की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित कर रहे हैं.

दतिया के प्रवास पर पहुंचे गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने किसानों से वार्तालाप कर उनकी समस्याओं को जाना. उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए की रवि की फसल के लिए किसानों के खाद बीज के जरूरत को लेकर सतर्क रहें. सरकार की मंशा अनुरूप किसानों को हर सुविधा दी जाए.

किसान और अधिकारी क्या कह रहे हैं
प्रदेश में कई जिलों के किसानों का कहना है कि प्राइवेट और ब्लैक में तो खाद उपलब्ध है, लेकिन सरकारी सोसाइटी में खाद नहीं मिल पा रहा है. घंटों तक लाइनों में लगे रहने के बाद भी उन्हें खाली हाथ घर लौटना पड़ रहा है. वहीं कई जिलों के अधिकारी भी ऑफ कमरा इस बात को मान रहे हैं कि उनके पास खाद की कमी है. हालांकि कई अधिकारी बताते हैं कि उनके पास फिलहाल के लिए तो खाद उपलब्ध है.

Trending news