कौशल्या मंदिर पुर्निर्माण पर गरमाई सियासत, BJP का आरोप- कांग्रेस कर रही राम के नाम पर राजनीति

5 अगस्त को  भव्य राम मंदिर का भूमिपूजन के साथ ही रामलला के मामा गांव चंदखुरी में माता कौशल्या मंदिर के जीर्णोद्धार (Renovation) और सौंदर्यीकरण (Beautification) का काम भी इसी महीने से शुरू हो रहा है. जिसे भाजपा राजनीति बता रही है.

कौशल्या मंदिर पुर्निर्माण पर गरमाई सियासत, BJP का आरोप- कांग्रेस कर रही राम के नाम पर राजनीति
फाइल फोटो

सत्य प्रकाश/रायपुर: अयोध्या में 5 अगस्त को  भव्य राम मंदिर का भूमिपूजन हो रहा है. इसके साथ ही रामलला के मामा गांव चंदखुरी में माता कौशल्या मंदिर के जीर्णोद्धार (Renovation) और सौंदर्यीकरण (Beautification) का काम भी इसी महीने से शुरू हो रहा है. जिसे भाजपा राजनीति बता रही है.

दरअसल राज्य की कांग्रेस सरकार ने कौशल्या मंदिर के लिए करीब 15 करोड़ की राशि से मंदिर के पुर्निर्माण की लेकर ले-आउट तस्वीर जारी की है. जिसके बाद राजनीति शुरू हो गई है. पिछले दिसंबर में ही कांग्रेस सरकार ने रामवन गमन पथ को डेवलप करने के लिए करीब 137 करोड़ की योजना का भूमिपूजन किया था. उसके करीब 7 महीने बाद अब अयोध्या में भव्य राम मंदिर का भूमिपूजन होने जा रहा है. भाजपा इसको पॉलिटिक्स ट्रिक मान रही है.

बीजेपी प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने का कहना है, "कांग्रेस सरकार बच्चों जैसे बराबरी करने की सोच रही है, सिर्फ राम के नाम पर राजनीति के लिए भूमिपूजन के 7 महीने बाद नींद से जागी है."

वहीं कांग्रेस प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने इसका पलटवार करते हुए कहा, "राम के नाम पर वोट मांग कर सरकार बनाने वाली बीजेपी 15 साल तक कौशल्या माता मंदिर के बारे में नहीं सोची, अब किस मुंह से इस बारे में बात कर रही है?"

आपको बता दें कि चंदखुरी में माता कौशल्या मंदिर के पुर्निर्माण कार्य का ऐलान सीएम बघेल ने पिछले दिनों ही किया था. राज्य सरकार ने करीब 15 करोड़ की राशि से मंदिर के पुर्निर्माण की लेकर ले-आउट तस्वीर जारी की है.

बताया जा रहा है कि सीएम भूपेश बघेल 29 जुलाई को सपरिवार चंदखुरी भी गए थे. वहां उन्होंने भगवान राम और मां कौशल्या की पूजा अर्चना की थी.

Watch LIVE TV-