KBC में पूछा गया सवाल; किस खेल का संबंध जबलपुर से है?, जानिए, संस्कारधानी​ में अंग्रेजों ने कैसे शुरू किया था स्नूकर

बहुत कम लोग इस बात को जानते होंगे कि पूरी दुनिया में खेले जाने वाले स्नूकर खेल का अविष्कार मध्य प्रदेश के जबलपुर शहर में हुआ था. इस खेल को ईजाद अंग्रेज अफसरों ने किया था. जिससे जुड़ा सवाल केबीसी में भी पूछा गया.

KBC में पूछा गया सवाल; किस खेल का संबंध जबलपुर से है?, जानिए, संस्कारधानी​ में अंग्रेजों ने कैसे शुरू किया था स्नूकर
केबीसी में पूछा गया स्नूकर से जुड़ा सवाल

भोपालः मशहूर टीवी शो केबीसी के हाल ही में प्रसारित हुए एपिसोड में ग्वालियर की प्रोफेसर किरण वाजपेयी शामिल हुई. इस दौरान किरण वाजपेयी ने 50 लाख रुपए की रकम भी जीती. शो के दौरान किरण वाजपेयी से अमिताभ बच्चन ने स्नूकर ( snooker) खेल से जुड़ा एक सवाल पूछा. सवाल यह पूछा गया था कि मध्य प्रदेश के जबलपुर ( jabalpur) शहर में किस खेल का इनवेंशन हुआ था? सवाल के जवाब में चार विकल्प दिए गए थे. पोलो, स्नूकर, गोल्फ और बैडमिंटन. इस सवाल का सही जवाब स्नूकर है.

जानिए क्या है स्नूकर का इतिहास
बहुत कम लोग इस बात को जानते होंगे कि पूरी दुनिया में खेले जाने वाले स्नूकर खेल का इनवेंशन मध्य प्रदेश के जबलपुर शहर में हुआ था. इस खेल को ईजाद अंग्रेज अफसरों ने किया था. दरअसल, स्नूकर लोकप्रिय बिलियर्डस (billiards) खेल से बना है. ब्रिटिश अधिकारियों ने बिलियर्डस में बदलाव करने का विचार बनाया. जिसकी शुरूआत जबलपुर से हुई.

ये भी पढ़ेंः 40 साल से अमिताभ बच्चन को यह बहन भेज रही थी राखी, KBC की हॉट सीट पर बताया "मैं ही हूं चिट्ठी वाली बहन"

आज जबलपुर के जिस क्षेत्र को केंट और सदर क्षेत्र के नाम से जाना जाता है. अंग्रेजी शासनकाल में उस जगह पर यंग मैन क्रिश्चयन एसोसिएशन सोसाइटी बसी हुई थी. यहां अंग्रेज सेना के बड़े-बड़े अफसर रहते थे. सभी अफसर क्लब में बिलियर्डस खेलने जाते थे. अंग्रेज अफसर जिस क्लब में बिलियर्डस खेलते थे, उस क्लब को बाद में नर्मदा क्लब के नाम से जाना जाने लगा. नर्मदा क्लब से ही स्नूकर की शुरूआत हुई. अंग्रेज अफसरों ने परंपरागत बिलियर्डस खेल में बदलाव करते हुए काले और लाल रंग की गेंदों को भी मिलाकर स्नूकर खेल की शुरूआत की.

कैसे हुई स्नूकर शब्द की शुरूआत 
स्नूकर शब्द की शुरूआत भी अंग्रेज अफसरों ने ही की थी. कहा जाता है कि जब डेवनशायर रेजिमेंट के कर्नल सर नेविल चैम्बर्लन स्नूकर खेल रहे थे. तभी उनके प्रतिद्वंदी ने एक गेंद को निशाना बनाया. लेकिन वह गेंद को पॉकेट में नहीं डाल पाया. जिसके बाद कर्नल चैम्बर्लन ने उसे स्नूकर कहकर बुलाया. इस शब्द से उनका अर्थ था अनुभवहीन खिलाड़ी. इस तरह स्नूकर शब्द की शुरूआत हुई और यह खेल बिलियर्डस खेल से जुड़ गया. बाद में समय-समय पर स्नूकर खेल में और भी कई बदलाव होते रहे. अंग्रेज जबलपुर के नर्मदा क्लब में इस खेल को खेलते थे. जहां आज भी स्नूकर से जुड़ी हुई यादें मौजूद हैं.

ये भी पढ़ेंः पांच दशक में पहली बार गणतंत्र दिवस पर कोई विदेशी अतिथि नहीं, यहां देखिए अब तक आए मेहमानों की लिस्ट

क्या है स्नूकर खेल
स्नूकर खेल एक स्टिक की सहायता से खेला जाता है. इस खेल में एक एक बड़े टेबल का इस्तेमाल किया जाता है, जो 12 फीट × 6 फीट (3.7 मी॰ × 1.8 मीटर) के आकार का होता है, इस टेबल पर हरे रंग का मेट चढ़ा होता है. टेबल के चारों कोनों पर चार बड़े होल (पॉट) बने होते हैं. इस खेल को खेलने के लिए एक स्टिक और रंगीन गेंदों का इस्तेमाल किया जाता है.

बिलियर्ड्स और स्नूकर के बीच अंतर?
बिलियर्ड्स में तीन अलग-अलग रंग की गेंदें और स्नूकर में अलग-अलग रंग की 22 गेंदें होती हैं.

पहली नजर में बिलियर्ड्स और स्नूकर जैसे टेबल गेम्स देखने में तो एक जैसे ही लगते हैं, लेकिन वास्तव में इन दोनों के बीच बहुत अंतर होता है. बिलियर्ड्स और स्नूकर दोनों ही खेल टेबल पर खेले जाते हैं, लेकिन इन दोनों ही गेम्स में गेंदों की संख्या और उनके रंगों के आधार में बड़ा फर्क होता है.

ये भी पढ़ेंः कोविड वैक्सीन पर अविश्वास से आहत वैज्ञानिकों ने ओपन लेटर में लिखा- हमारी मेहनत का सम्मान करें
 
बिलियर्ड्स खेलने का तरीका
बिलियर्ड्स गेम को तीन तरह की रंगीन गेंदों के साथ खेला जाता है. जिनमें सफेद, पीली और लाल गेंद शामिल रहती है. जिसमें एक खिलाड़ी सफेद गेंद तो दूसरा खिलाड़ी पीली गेंद से खेलता है. इस गेम में दोनों खिलाड़ियों का लक्ष्य होता है लाल गेंद को ज्यादा से ज्यादा होल में डालकर सेट पाइंट हासिल करना. जो खिलाड़ी जितने ज्यादा सेट पाइंट हासिल करता हैं. उसकी जीत होती है.

स्नूकर खेलने का तरीका
वहीं स्नूकर को 15 लाल गेंदों, एक सफेद गेंद और छह रंगीन गेंदों के साथ खेला जाता है. स्नूकर में खिलाड़ी को पहले लाल गेंदों को पॉट करना होता है, उसके बाद छह रंगीन गेंदों को पॉट करना पड़ता है.  जिसके बाद फिर से लाल गेंदों को पॉट करना होता है. खेल के आखिरी में जिसके सबसे ज्यादा पॉट पाइंट होंगे उसकी जीत होती है. स्नूकर के खेल में हर रंग की गेंद का एक अलग अंक होता है. लाल गेंद का एक अंक होता है, इसी तरह पीली गेंद के दो अंक, हरी गेंद के तीन अंक, भूरी गेंद के चार अंक, नीली गेंद के पांच अंक,  गुलाबी गेंद के छह अंक और काली गेंद के सात अंक होते हैं. खास बात यह है कि जबलपुर शहर में आज भी इस खेल की यादें मौजूद हैं. 

दुनिया में सबसे ज्यादा स्नूकर और बिलियर्ड्स की चैंपियनशिप भारतीयों ने जीतीं   
बिलियर्ड्स और स्नूकर एक ऐसा खेल है, जिसकी सबसे ज्यादा चैंपियनशिप भारतीय खिलाड़ियों ने जीती है. स्नूकर और बिलिय‌र्ड्स में पिछले कई सालों से भारतीय खिलाड़ियों का दबदबा रहा है. 1958 में पहली बार विल्सन जोन्स ने बिलियर्ड्स विश्व चैंपियनशिप जीती थी. विल्सन जोन्स के बाद भारतीय खिलाड़ी माइकल फरेरा ने लगातार 8 बार बिलियर्ड्स की चैंपियनशिप जीती थी. जो एक विश्व रिकॉर्ड हैं. इसी तरह भारत के गीत सेठी ने भी बिलियर्ड्स और स्नूकर खेल में दुनियाभर में भारत का दबदबा बनाए रखा. गीत सेठी ने 6 बार पेशेवर स्तर और 3 बार शौकिया वर्ल्ड बिलियर्ड्स चैंपियनशिप जीती थी. इसके बाद भारतीय खिलाड़ी पंकज आडवाणी स्नूकर और बिलियर्ड्स के विश्व विजेता बने. पंकज आडवाणी के नाम व‌र्ल्ड बिलियर्ड्स चैंपियनशिप के 21 टाइटल हैं. 2005, 2008 और 2012 में वह लगातार तीन साल हैट्रिक लगाते हुए व‌र्ल्ड, एशिया और नेशनल चैंपियन रहे हैं. इसके अलावा पंकज ने 2006 में दोहा में आयोजित हुए एशियाई खेलों में पंकज आडवाणी ने स्नूकर और बिलियर्ड्स खेल में स्वर्ण पदक जीता था. 

ये भी देखेंः  क्या आपने देखा है कैसे घूमती है पृथ्वी, इस VIDEO में देखिए

WATCH LIVE TV