नीम की पत्ती के चौंकाने वाले फायदे, दिन में इतनी पत्तियां खाएं और रोग से मुक्ति पाएं
topStories1rajasthan885597

नीम की पत्ती के चौंकाने वाले फायदे, दिन में इतनी पत्तियां खाएं और रोग से मुक्ति पाएं

नीम एक ऐसा पेड़ है जिसके तने, पत्तियां और बीज औषधि का काम करते हैं. गांवों अभी लोग इसकी टहनियों की दातून करते रहे हैं. इसकी पत्तियों का इस्तेमाल दवा बनाने में करते हैं.

नीम की पत्ती के चौंकाने वाले फायदे, दिन में इतनी पत्तियां खाएं और रोग से मुक्ति पाएं

नई दिल्ली: नीम एक ऐसा पेड़ है जिसके तने, पत्तियां और बीज औषधि का काम करते हैं. गांवों अभी लोग इसकी टहनियों की दातून करते रहे हैं. इसकी पत्तियों का इस्तेमाल दवा बनाने में करते हैं. इसके बीज का भी इस्तेमाल औषधि के रूप में किया जाता है. 

हालांकि बहुत से इसकी पत्तियों को इसकी कड़वाहट के कारण नहीं पसंद करते हैं. मगर आयुर्वेद में इसके चौंकाने वाले फायदे बताए गए हैं. रोजाना सुबह खाली पेट नीम की पत्तियों खाने से शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता तो बढ़ती ही है साथ ही शारीरिक विकार भी दूर होते हैं. 

गर्मियों में तेजी से घटेगा आपका वजन, बस इन 5 चीजों का कर लें सेवन, खत्म हो जाएगी तोंद और कमर की चर्बी

नीम, जिसे चमत्कारिक जड़ी बूटी के रूप में भी जाना जाता है. इसका हर हिस्सा औषधीय उपचार में काम आता है. नीम रक्त को साफ करता है और शरीर से किसी भी जहरीले तत्व को बाहर निकालने में मदद करता है. नीम में फंगस, वायरस और बैक्टीरिया से लड़ने की क्षमता होती है. यह अपने एंटीकैंसर गुणों के लिए जाना जाता है.

यह मात्र एक ऐसा पेड़ा है जिसके हर हिस्से का इस्तेमाल औषधि बनाने के लिए किया जाता है. इसकी छाल, पत्ते और बीज के चमत्कारिक फायदे आयुर्वेद में बताए गए हैं. कई बार, जड़, फूल और फल का भी उपयोग किया जाता है. नीम के पत्तों का उपयोग कुष्ठ रोग के लिए किया जाता है. इसके इस्तेमाल से नेत्र विकार, नकसीर, आंतों के कीड़े, पेट की ख़राबी, भूख न लगना, त्वचा के अल्सर, हृदय और रक्त वाहिकाओं के रोगों (हृदय रोग), बुखार, मधुमेह, मसूड़ों की बीमारी (मसूड़े की सूजन) और जिगर के रोग ठीक हो जाते हैं. 

गर्मियों में अच्छी सेहत के लिए रामबाण माना जाता है सत्तू, मिलते हैं ये बड़े फायदे

इसके अलावा नीम की छाल का इस्तेमाल मलेरिया, पेट और आंतों के अल्सर, त्वचा रोग, दर्द और बुखार को ठीक करने में किया जाता है. नीम में ऐसे रसायन की खान हैं जो रक्त शर्करा के स्तर को कम करने, पाचन तंत्र में अल्सर को ठीक करने, बैक्टीरिया को मारने और मुंह में प्लाक के निर्माण को रोकने में मदद कर सकते हैं.

एक शोध बताता है कि नीम के पत्तों (Health Benefits of Neem ke patte) का अर्क दांतों और मसूड़ों पर 6 सप्ताह तक रोजाना लगाने से प्लाक यानी दांतों पर मैल जमना कम हो सकता है. यह मुंह में बैक्टीरिया की संख्या को भी कम कर सकता है जो दांतों की मैल यानी डेंटल प्‍लाक का कारण बनता है. यदि अर्क नहीं मिलता है तो आप नीम के पत्‍तों को ही अच्‍छी तरह से धोकर सुबह-सुबह चबा सकते हैं. हालांकि 2 सप्ताह तक नीम के अर्क से कुल्ला करने पर प्‍लाक या मसूड़े की सूजन को कम करने के कोई प्रमाण नहीं मिलते हैं.

चुकंदर के जूस का सेवन क्यों है बेहतरीन? फायदे जान लेंगे तो रोजाना पीएंगे

अगर आप आप नीम की पत्तियों का सेवन नहीं करना चाहते हैं, तो इसकी चटनी (Neem Ki Chutney) बना सकते हैं. नीम की चटनी को रोज सुबह खाने से आप तमाम तरह के वायरस और बैक्‍टीरिया से बच सकते हैं.

सामग्री
नीम- 20 पत्ते
गुड़ - 4 टीस्‍पून
कोकम - 6-7
जीरा - 1 बड़ा चम्मच
नमक- स्‍वादानुसार

चटनी बनाने की विधि
- नीम के पत्तों को अच्छी तहर धो लें.
- फिर सारी चीजों को मिलाकर पीस लें.
- रोजाना खाली पेट आधा चम्मच खाएं और पानी पीएं. कुछ दिनों में इसका असर साफ दिखने लगेगा.

रोजाना बासी मुंह नीम की चार पत्तियां खाने से भी जगह के फायदे मिलते हैं. इसके खाने से खून साफ होता है, पेट में किसी तरह बीमारी की संभावना काफी कम हो जाती है. कील, मुंहासे नहीं निकलते हैं और त्वचा चमकदार होती है.

सुझाव: यह सामान्य जानकारी है. अगर आप किसी तरह की बीमारी से ग्रसित हैं तो पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर ले लें. 

WATCH LIVE TV

Trending news