NO डिनर, NO शूटिंगः 'विद्या बालन ने ठुकराई वनमंत्री संग खाने की पेशकश', अफसर ने रुकवा दी शूटिंग

मुलाकात के लिए 8 नवंबर को सुबह 11 से 12 बजे तक का समय तय किया गया था. वन मंत्री मुलाकात वाले दिन समय पर न आकर शाम 5 बजे आए. उन्होंने विद्या बालन से मुलाकात के बाद डिनर की पेशकश की. लेकिन विद्या ने मना कर दिया.

NO डिनर, NO शूटिंगः 'विद्या बालन ने ठुकराई वनमंत्री संग खाने की पेशकश', अफसर ने रुकवा दी शूटिंग
अभिनेत्री विद्या बालन, मध्य प्रदेश के वन मंत्री विजय शाह. (File Pics)

बालाघाटः कांग्रेस ने मध्य प्रदेश के वन मंत्री विजय शाह पर आरोप लगाया है कि अभिनेत्री विद्या बालन की ओर से डिनर की पेशकश ठुकरा देने पर उन्होंने उनकी फिल्म ’शेरनी’ की शूटिंग रोकने का प्रयास किया. यह मामला 8 और 9 नवंबर का है. दरअसल, विद्या बालन की फिल्म ’शेरनी’ की शूटिंग मध्य प्रदेश के बालाघाट टाइगर रिजर्व में हो रही थी. फिल्म की प्रोडक्शन यूनिट ने शूटिंग के लिए 20 अक्टूबर से 21 नवंबर तक बालाघाट फारेस्ट डिपार्टमेंट से परमिशन ले रखी थी. 

शूटिंग के लिए विद्या 8 नवंबर को मध्य प्रदेश आई थीं और गोंदिया में रुकी थीं. राज्य के वन मंत्री विजय शाह ने उनसे मिलने की इच्छा जताई. मुलाकात के लिए 8 नवंबर को सुबह 11 से 12 बजे तक का समय तय किया गया था. वन मंत्री मुलाकात वाले दिन समय पर न आकर शाम 5 बजे आए. उन्होंने विद्या बालन से मुलाकात के बाद डिनर की पेशकश की. लेकिन विद्या ने मना कर दिया.

'काम करो और छुट्टी भी मनाओ', सरकार को भा रहा 'WORK from HOME', जल्द आ सकता है सिस्टम

कांग्रेस ने मंत्री से माफी की मांग की
कांग्रेस मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने आरोप लगाया है कि अगले दिन जब शूटिंग यूनिट टाइगर रिजर्व पहुंची तो साउथ डीएफओ जीके बरकड़े ने उनकी गाडियां रोक दीं. वन विभाग के अधिकारियों ने कहा कि केवल 2 ही गाड़ियों के प्रवेश की अनुमति है. इस बारे में जब उच्च अधिकारियों को पता चला तो उन्होंने तुरंत फिल्म यूनिट को शूटिंग के लिए टाइगर रिजर्व में प्रवेश दिए जाने का आदेश स्थानीय फारेस्ट डिपार्टमेंट को दिया. इसके बाद शूटिंग दोबारा शुरू हो सकी. कांग्रेस का कहना है कि इस व्यवहार के लिए विजय शाह को माफी मांगनी चाहिए.

वन मंत्री ने दी आरोपों पर सफाई
वन मंत्री विजय शाह का कहना है कि विद्या बालन से मुलाकात की बात एकदम सही थी. लेकिन डिनर की व्यवस्था जिला प्रशासन की ओर से की गई थी. उन्होंने फिल्म यूनिट की गाड़ियों के रोके जाने के बारे में कहा कि शूटिंग के लिए सिर्फ दो जनरेटर ले जाने की अनुमति थी, लेकिन उस दिन अलग-अलग गाड़ियों पर लदे कई जनरेटर टाइगर रिजर्व में ले जाए जा रहे थे. इसलिए डीएफओ ने उन्हें प्रवेश से रोका था.

वन मंत्री विजय शाह कहा, ''मैं पूछना चाहता हूं शूटिंग कब कैंसल हुई? जिन्होंने अनुमति ली थी उनके निमंत्रण पर मैं गया था, एक महीने बाद. अक्टूबर से शूटिंग चल रही थी. मैं नहीं गया. उन्होंने कहा था आप जब महाराष्ट्र जाएं तो बालाघाट होते हुए जाएं. हमारी यूनिट के साथ डिनर करिए. जब मैं एक महीने बाद बालाघाट गया तो वहां से महाराष्ट्र गया. किसी कारण से डिनर कैंसल हो गया. ये कारण तो उनसे पूछा जाना चाहिए जिन्होंने अनुमति ली. शूटिंग कैंसल नहीं हुई. शासन-प्रशासन और वन विभाग के सहयोग से शूटिंग निरंतर चलती रही.''

एसबीआई में PO के 2000 पदों पर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी, अप्लाई @sbi.co.in
25 सेकंड में देखिए बाघ की दहशतः चिल्लाकर भाग रहे हैं लोग, 2 मुश्किल से बचे
अगर इस तरीके से रिज्यूम तैयार करोगे तो नौकरी पक्की!!, यहां देखिए सरल भाषा में 10 टिप्स

WATCH LIVE TV