CBI vs ममता सरकार मामले में सीबीआई की दो अर्जियों पर आज सुप्रीम कोर्ट करेगा सुनवाई

 सुप्रीम कोर्ट ने कोलकाता पुलिस आयुक्त पर शारदा चिटफंट मामले से जुड़े इलेक्ट्रिक सबूत को मिटाने के आरोप में सीबीआई की ओर से दायर की गई याचिकाओं पर आज सुनवाई करने वाली है. सुप्रीम कोर्ट के तीन जजों की बेंच इस पर सुनवाई होगी.

CBI vs ममता सरकार मामले में सीबीआई की दो अर्जियों पर आज सुप्रीम कोर्ट करेगा सुनवाई

नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट ने कोलकाता पुलिस आयुक्त पर शारदा चिटफंट मामले से जुड़े इलेक्ट्रिक सबूत को मिटाने के आरोप में सीबीआई की ओर से दायर की गई याचिकाओं पर आज सुनवाई करने वाली है. सुप्रीम कोर्ट के तीन जजों की बेंच इस पर सुनवाई होगी. इसमें सीजेआई रंजन गोगोई, जस्टिस दीपक गुप्ता, जस्टिस खन्ना मामले की सुनवाई करेंगे. इसके अलावा कोर्ट अवमानना मामले को लेकर दाखिल सीबीआई की याचिका पर भी सुनवाई करेगी.

CBI की ओर से दायर की गई याचिका में कहा गया ये...
सीबीआई ने बंगाल के चीफ सेक्रेटरी, डीजीपी और कोलकाता पुलिस कमिश्नर के खिलाफ दायर याचिका में कहा है कि अधिकारियों ने जानबूझकर शीर्ष अदालत के आदेश की अवहेलना की. उधर, रविवार रात धरने पर बैठीं बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि मैं जान देने के लिए तैयार हूं लेकिन समझौता नहीं करूंगी. इससे पहले धरने के बीच ही ममता ने पुलिसवालों को सम्मानित किया. इस दौरान पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार साथ खड़े थे.

ममता बनर्जी कर रही हैं धरना प्रदर्शन 
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को कहा कि चिटफंड घोटाला मामलों में कोलकाता के पुलिस प्रमुख से पूछताछ की सीबीआई की कोशिश के खिलाफ उनका धरना शुक्रवार तक जारी रहेगा. इसी बीच, आरजेडी नेता तेजस्वी यादव और डीएमके सांसद कनिमोझी ने बनर्जी के धरनास्थल पर पहुंचकर एकजुटता दिखाई. समाजवादी पार्टी के नेता किरणमय नंदा भी प्रदर्शन स्थल पर पहुंच चुके हैं.

बनर्जी रविवार रात से एस्प्लानेड क्षेत्र में मेट्रो चैनल में धरने पर बैठी हैं. इसी जगह वह 2006 में टाटा मोटर्स द्वारा अपनी छोटी कार परियोजना के वास्ते सिंगूर में किए गए कृषि भूमि के अधिग्रहण के खिलाफ 26 दिन तक उपवास पर बैठी थीं. उन्होंने कहा, "यह प्रदर्शन शुक्रवार तक चलेगा. चूंकि बोर्ड परीक्षाएं शीघ्र ही शुरू हो रही हैं, अतएव हम लाउडस्पीकर नहीं बजाएंगे ताकि छात्र परेशान न हों."