Mamata Banerjee भवानीपुर से नहीं नंदीग्राम से लड़ेंगी चुनाव, BJP बोली- ममता ने मान ली हार

पश्चिम बंगाल में विधान सभा चुनाव को लेकर ममता बनर्जी ने 291 कैंडिडेट्स की लिस्ट जारी कर दी है. साथ ही उन्होंने ऐलान किया है कि वे भवानीपुर से नहीं बल्कि नंदीग्राम से चुनाव लड़ेंगी. इसके बाद से ही बीजेपी ने सवाल उठाने शुरू कर दिए हैं.

Mamata Banerjee भवानीपुर से नहीं नंदीग्राम से लड़ेंगी चुनाव, BJP बोली- ममता ने मान ली हार
पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी (फोटो फोटो, साभार- PTI).

कोलकाता: तृणमूल कांग्रेस (TMC) सुप्रीमो ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के नंदीग्राम (Nandigram) से चुनाव लड़ने की घोषणा के बाद बीजेपी (BJP) ने तंज कसते हुए कहा कि अपनी हार सामने देखकर ममता डर गई हैं. इसलिए नंदीग्राम भाग गई हैं. 

बीजेपी नेता राहुल सिन्हा ने कहा, 'नंदीग्राम में TMC का उत्थान हुआ था. उसके बाद उन्होंने नंदीग्राम को देखा भी नहीं और वहां की जनता के साथ विश्वासघात किया. अब वे भवानीपुर से विश्वासघात कर नंदीग्राम में जा रही है, वहां की जनता विश्वासघात का जवाब वोटों से देगी. नंदीग्राम में भी TMC सुप्रीमो की हार निश्चित है. CPM को आगे बढ़ाकर TMC सोच रही है कि BJP से बच जाएंगे, लेकिन ऐसा नहीं होगा. बंगाल की जनता शांति चाहती है. TMC ने खून और लूट की राजनीति शुरू की है, उसे खत्म करने के लिए मोदी जी का शासन बंगाल में लाएंगे.'

TMC ने जारी की कैंडिडेट्स की लिस्ट

दरअसल, आज पश्चिम बंगाल चुनाव के लिए तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी ने 291 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की. इस लिस्ट में TMC ने 100 नए चेहरे शामिल किए, जिन्हें पहली बार मौका दिया जा रहा है. इनमें 50 महिलाएं और 42 मुस्लिम कैंडिडेट शामिल हैं. ममता ने कहा कि वे खुद नंदीग्राम सीट से चुनाव लड़ेंगी. वे 9 मार्च को नंदीग्राम जाएंगी और 10 मार्च को हल्दिया में नामांकन दाखिल करेंगी. 

ये भी पढ़ें:- चुनाव से ठीक 14 दिन पहले पश्चिम बंगाल जाएंगे राकेश टिकैत, आखिर क्या है प्लान?

नंदीग्राम सीट पर धार्मिक समीकरण?

बताते चलें कि नंदीग्राम को ममता के करीबी रहे और अब भाजपा में शामिल हो चुके शुवेंदु अधिकारी का गढ़ माना जाता है. वहां 70% हिंदू हैं, जबकि 30% मुस्लिम आबादी है. वहीं अगर कुल वोटर की बात करें तो यहां 2,13,000 वोटर में 1 लाख 51 हजार हिंदू वोटर हैं और 62 हजार मुस्लिम वोटर हैं. 2016 में टीएमसी की तरफ से चुनाव लड़ते हुए शुवेंदु चुनाव जीते थे. लेकिन अब शुवेंदु अधिकारी बीजेपी में शामिल हो चुके हैं.

ये भी पढ़ें:- DL, RC के लिए RTO जाने की जरूरत नहीं, अब घर बैठे ऑनलाइन मिलेंगी ये 18 सुविधाएं

राजनीतिक जानकारों ने किया ये दावा

बंगाल के राजनीतिक जानकारों का ऐसा दावा है कि अधिकारी परिवार पश्चिमी और पूर्वी मिदनापुर में बेहद ताकतवर है. पुरुलिया, बांकुरा, बीरभूम, मुर्शिदाबाद और मालदा में इस परिवार का अच्छा प्रभाव है. एक अनुमान के मुताबिक, शुवेंदु अधिकारी 50 सीटों पर TMC का खेल खराब कर सकते हैं. इस नुकसान को रोकने के लिए ममता बनर्जी खुद नंदीग्राम से चुनाव मैदान में उतर रही हैं. लेकिन यहां की लड़ाई ममता बनर्जी के लिए आसान नहीं रहने वाली है. क्योंकि शुवेंदु अधिकारी ममता को 50 हजार से ज्यादा वोटों से हराने का दावा कर चुके हैं.

VIDEO

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.